मवेशियों से भरे ट्रक को गुजरात के अहमदाबाद में गौ-रक्षको ने रोका, घोंपा चाकू

0 190
पीड़ित जहीर कुरैशी को यहां सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ट्रक में सहायक के तौर पर काम करने वाले कुरैशी ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि ट्रक को मुस्तफा सिपाय चला रहा था। ट्रक में 30 मवेशियों को दीसा से भरूच ले जाया जा रहा था जब हाथों में डंडे लिये चार पांच लोगों ने उसे यह कहते हुए रोकने की कोशिश की कि वे ‘गौ रक्षक’ हैं।
गुजरात के अहमदाबाद में गौ संरक्षक होने का दावा कर रहे अज्ञात व्यक्तियों ने मवेशियों को लेकर जा रहे एक ट्रक को शनिवार देर रात रामोल इलाके में रोका और एक व्यक्ति को चाकू घोंप दिया। पुलिस ने यह जानकारी दी।
रामोल पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘चालक ने जब कुछ दूरी पर पुलिस की गाड़ी को देखा तो सड़क के किनारे गाड़ी करने लगा तभी मोटरसाइकिल पर आए दो लोगों ने कुरैशी को चाकू घोंप दिया जबकि सिपाय वहां से भागने में कामयाब हो गया।’’ उन्होंने कहा कि इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।
इस बीच लोक रक्षक दल नाम के संगठन के सदस्य योगीराज सिंह गोहिल ने सिपाय और कुरैशी के खिलाफ एक शिकायत देकर आरोप लगाया है कि वे बिना अनिवार्य दस्तावेजों के मवेशियों को लेकर जा रहे थे।
कथित गौ-रक्षकों द्वारा हिंसा का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई मामले सामने आते रहे हैं। नवंबर महीने के पहले सप्ताह में पंजाब के फगवाड़ा में खुद को कथित तौर पर गौ-रक्षक दल का नेता बताकर ट्रक चालक से हजारों रुपये लूटने के मामले में पुलिस ने 3 लुटेरों को गिरफ्तार किया था।
आरोप था कि तीनों ने ट्रक चालक को धमका कर करीब 10 हजार रुपये छीन लिए थे। पुलिस ने गिरफ्तार लोगों के पास से लूटी गई रकम बरामद की थी। वहीं, वर्ष 2017 के अप्रैल महीने में गाय ले जा रहे पहलू खान की कथित गौ रक्षकों ने पीट-पीटकर दिल्ली-जयपुर हाईवे पर हत्या कर दी थी।
यह भी पढ़ें: सपा ने अमेठी में लगाए, ‘ईरानी गुजराती वापस जाओ’ के पोस्टर
2017 में ही नवंबर महीने में राजस्थान के अलवर-भरतपुर सीमा पर कथित गौ रक्षकों द्वारा उमर खान की हत्या कर दी गई थी। ये दोनों मामले सुर्खियों में रहे थे।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More