पिस्टल लहराने मामले में,पुलिस ने किया चौकाने वाला खुलासा

0 210
नई दिल्ली,। दिल्ली के 5 स्टार होटल हयात रेजेंसी के बाहर बसपा के पूर्वी सांसद राकेश पांडेय के बेटे आशीष पांडेय द्वारा पिस्टल लहराने की वजह सामने आ गई है।

 

मामले में दिल्ली पुलिस ने नया खुलासा किया है। दिल्ली पुलिस ने ये खुलासा होटल की सीसीटीवी रिकॉर्डिंग की जांच के आधार पर किया है।
आशीष पांडेय द्वारा पिस्टल लहराने के मामले में पुलिस जांच में पता चला है कि विवाद शौचालय में कांग्रेस के पूर्व विधायक कुंवर करण सिंह के बेटे गौरव सिंह के प्रवेश को लेकर शुरू हुआ था।
महिला मित्र को उल्टी होने पर उसकी मदद के लिए गौरव महिला शौचालय में गया था। इसी दौरान आशीष की महिला मित्र भी शौचालय में गई थीं। शौचालय में गौरव को देखकर उसका विवाद हो गया था।
शोर सुनकर आशीष भी शौचालय के पास पहुंचा, जहां गौरव के साथ उसका विवाद हो गया। बाद में विवाद इतना बढ़ा, जो होटल के बाहर पिस्टल लहराने तक पहुंच गया।
डीसीपी देवेंद्र आर्य ने बताया कि गौरव और आशीष के बयान व पुलिस जांच में पता चला कि हयात में 14 अक्टूबर की तड़के हुआ विवाद महिला शौचालय के अंदर से शुरू हुआ था। ये विवाद होटल के पोर्च तक जारी रहा।
गौरव की महिला मित्र को उल्टी होने पर और वहां किसी के मौजूद न होने की वजह से गौरव उसकी मदद करने के लिए अंदर गया था।
उसी समय आशीष की महिला मित्र भी वहां पहुंच गई थीं। गौरव को महिला शौचालय में देखकर वह भड़क गई।
इसी दौरान वहां आशीष भी पहुंच गया और विवाद बढ़ गया। होटल स्टाफ के मौके पर पहुंचने के बाद गौरव और आशीष अपनी महिला मित्रों के साथ वहां से बाहर निकल गए।
होटल से निकलने के बाद आशीष पोर्च के पास कार का इंतजार कर रहा था। गौरव भी वहां अपनी महिला मित्रों के साथ अपनी कार में मौजूद था।
पुलिस के अनुसार होटल के बाहर गौरव की महिला मित्र और आशीष की महिला मित्रों के बीच फिर बहस शुरू हो गई।
इसके बाद आशीष ने कार से पिस्टल निकाली और गौरव व उसकी महिला मित्र को धमकी दी थी।
होटल हयात के बाहर पिस्टल तानने के मामले में आशीष पांडेय को सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया था। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने आशीष को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है।
सोमवार को पुलिस ने उसकी रिमांड के लिए कोर्ट में आवेदन नहीं किया। हैरानी की बात है कि इस दौरान आशीष के वकील की तरफ से भी कोर्ट में जमानत याचिका दायर नहीं की गई थी।
पिस्टल और बीएमडब्ल्यू कार जब्त
पुलिस ने उसकी बीएमडब्ल्यू कार और पिस्टल को लखनऊ से जब्त कर लिया था।
आशीष के आत्मसमर्पण करने के बाद अदालत ने उसे एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया था। इसके बाद विशेष कोर्ट ने पुलिस रिमांड की अवधि बढ़ाने से इनकार करते हुए आशीष को तीन दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।
यह भी पढ़ें: मोबाईल की लत में युवा वर्ग रिश्तों को डाल रहा खतरे में
सोमवार को आशीष फिर से कोर्ट में पेश हुआ। कोर्ट ने एक बार फिर उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More