वाराणसी: JHV मॉल में फायरिंग, 2 की मौत 2 जख्मी

0 280
वाराणसी शहर स्थित जेएचवी मॉल में बुधवार (31 अक्टूबर 2018) को अज्ञात बदमाशों ने ग्राउंड फ्लोर पर फायरिंग कर दी।
हादसे में दो लोगों की जान चली गई, जबकि दो लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं। एकदम से चली गोलियों से शॉपिंग मॉल में अफरा-तफरी का माहौल बन गया।
फौरन इस बारे में मॉल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे।
फिलहाल घायलों को सिंह मेडिकल रिसर्च हॉस्पिटल भेजा गया है, जहां उनका इलाज जारी है।
अति सुरक्षित छावनी क्षेत्र स्थित जेएचवी मॉल में बुधवार दोपहर उस समय अफरातफरी मच गई जब बदमाशों ने मॉल के अंदर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर टेलर सुनील गौड़ व सेल्समैन गोपी कन्नौजिया की हत्या कर दी।
फायरिंग में दो युवक भी घायल हैं। मॉल के अंदर गोलीबारी से अफरातफरी मच गई। मॉल में उस समय सैकड़ों लोग खरीदारी के लिए मौजूद थे। सूचना मिलते ही एडीजी, आइजी, डीएम, एसएसपी समेत कई थानों की फोर्स पहुंच गई।
घायलों को सिंह मेडिकल ले जाया गया। वहां उपचार के दौरान घायलों के साथ आए लोगों ने बवाल काटा और तोडफ़ोड़ की। हमले में विद्यपीठ के छात्र का नाम आ रहा है।
पुलिस ने उसकी तलाश में छात्रावास में दबिश दी लेकिन वह कमरा बंदकर फरार हो चुका था। 
कैंट थाना क्षेत्र में छावनी क्षेत्र स्थित जेएचवी मॉल में दोपहर में विद्यापीठ का छात्र आलोक उपाध्याय अपने दो अन्य साथियों के साथ पहुंचा। शराब के नशे में धुत आलोक व उसके साथी पहले पिज्जा हट गए।
वहां से वह ग्राउंड फ्लोर पर ही मौजूद प्यूमा के शो-रूम पहुंचे और वहां कार्यरत कर्मचारी प्रशांत जो विद्यापीठ में पढ़ता है, उसके बारे में पूछने लगे।
मैनेजर हर्षित के सामने पिस्टल निकालते हुए आलोक ने बोला कि प्रशांत को मार देंगे, आजकल मेरे बारे में बहुत बोल रहा है। पिस्टल लहराते हुए आलोक हंगामा कर रहा था कि
हर्षित ने उसका हाथ पकड़ लिया और दुकान के बाहर लाया। इस बीच अगल-बगल की दुकानों में मौजूद कर्मचारी भी आ गए और आलोक को पकड़कर उसके हाथ से पिस्टल छीनने लगे।
आलोक का एक साथी जो गेट की ओर बढ़ चुका था, उसने देखा कि आलोक कर्मचारियों से घिरा है और उन लोगों ने पिस्टल भी छीन ली है। आलोक के साथी ने यह देखकर अपनी पिस्टल निकाल ली और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।
गोलीबारी की जद में मॉल की विभिन्न दुकानों में कार्यरत शिवपुर निवासी सुनील गौड़ (45 वर्ष), गोपी कन्नौजिया (26 वर्ष) निवासी खजुरी पांडेयपुर,
विशाल सिंह (28 वर्ष) निवासी बाबापुर जंसा, चंदन (31 वर्ष) निवासी गायघाट को गोली लगी।
गोलीबारी के बाद आलोक को लेकर उसके साथी असलहा लहराते हुए फरार हो गए। उधर, पुलिस को सूचना देने के साथ ही घायलों को मलदहिया स्थित सिंह मेडिकल ले जाया गया जहां
सुनील गौड़ व गोपी कन्नौजिया को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। दो घायलों क्रमश: चंदन व विशाल के कमर के नीचे गोली लगी है।
दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। अब पुलिस सीसीटीवी के सहारे पूरी वारदात की पड़ताल कर रही है।
यह भी पढ़ें: हाशिमपुरा नरसंहार: 16 पीएसी कर्मी दोषी करार, मिली आजीवन कारावास की सजा

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More