एक हैवान जिसने अब तक 9 बच्चियों को बनाया अपना शिकार, रेप से पहले तोड़ देता था पैर

0 471
गुड़गांव, आरोपी अब तक 9 मासूमों को अपना शिकार बना चुका है और दरिंदगी ये है कि आरोपी बलात्कार से पहले मासूमों के पैर तोड़ देता था, ताकि वह भाग ना सके। बलात्कार के बाद आरोपी शराब भी पीता था। आरोपी मंदिरों, गुरद्वारों में भंडारे खाने का शौकीन है और
पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए मंगलवार को गुड़गांव में कई जगह भंडारे का भी आयोजन कराया। आखिरकार पुलिस ने उसे रविवार को दोपहर झांसी के एक गांव से भंडारे से ही गिरफ्तार किया है। आरोपी सड़कों पर ही रहता था, इसलिए उसे पकड़ने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।
दरअसल बीते दिनों गुड़गांव में 3 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या का मामला सामने आया था। अब पुलिस ने इस मामले के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में ऐसे खुलासे किए हैं, जिन्हें सुनकर पुलिस भी हैरान है।
बीते 12 नवंबर को गुड़गांव के सेक्टर 66 के इलाके में एक 3 साल की बच्ची का शव मिला था। बच्ची 11 नवंबर की दोपहर से गायब थी। वारदात का शक पास की ही झुग्गी में रहने वाले युवक सुनील पर गया। जब पुलिस ने झुग्गियों में रहने वाली उसकी बहन, जीजा और मां से पूछताछ की तो
पता चला कि आरोपी 8 साल पहले अपने पिता की मौत के बाद से ही घर से चला गया था और सड़कों पर यहां-वहां रहकर ही जिंदगी गुजार रहा है। पुलिस ने काफी कोशिशों के बाद आरोपी को झांसी के एक गांव से गिरफ्तार किया।
पुलिस का कहना है कि आरोपी ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि वह अभी तक 9 बच्चियों को अपना शिकार बना चुका है, जिनकी उम्र 3 साल से 8 साल के बीच थी। आरोपी बच्चियों को भंडारे वाली जगह से ही उन्हें चॉकलेट या टॉफी का लालच देकर बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जाता और
किसी सुनसान जगह ले जाकर बच्ची के साथ बलात्कार की घटना को अंजाम देता था। दरिंदे ने बीते 2 साल के दौरान गुड़गांव में 3, ग्वालियर में 1, झांसी में 1 और दिल्ली में 4 बच्चियों को अभी तक अपनी हवस का शिकार बनाया है। फिलहाल पुलिस ग्वालियर, झांसी और दिल्ली पुलिस से संपर्क कर मामलों की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।
मंगलवार को पुलिस ने पत्रकारों को बताया कि आरोपी गुड़गांव में वारदात के बाद ओल्ड गुड़गांव गया, वहां गुरुद्वारे में भंडारा खाकर वह कमला नेहरु पार्क में ही सो गया। अगली सुबह ट्रेन पकड़ दिल्ली गया और पूरे दिन इधर-उधर घूमने के बाद निजामुद्दीन स्टेशन के पास ही सो गया।
अगली सुबह आरोपी झांसी पहुंचा और तब से वहीं पर इधर-उधर घूम रहा था। आरोपी कहीं भी सो जाता और शराब के पैसों के लिए कुछ समय मजदूरी कर लेता। पुलिस का कहना है कि
आरोपी को फंसाने के बीते मंगलवार को पुलिस ने गुड़गांव के हनुमान मंदिर, गुरुवार को सांई मंदिर और शनिवार को शनि मंदिर में भंडारे का आयोजन भी कराया, लेकिन
यह भी पढ़ें: वर्ल्‍ड बैंक प्रमुख ने जमकर की पीएम मोदी की तारीफ
आरोपी पकड़ में नहीं आ सका। आरोपी का पीछा करते हुए पुलिस झांसी पहुंची और रविवार को पुलिस ने आरोपी को झांसी के मगरपुर गांव से गिरफ्तार कर लिया।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More