दो युवकों ने हाईवे पर दारोगा को पीटा और वर्दी फाड़ी,छुड़ाने पहुंचे कई भाजपा नेता

0 328
मुरादाबाद, सिविल लाइंस कोतवाली में तैनात दारोगा रोहित कुमार किसी केस की तफ्तीश के बाइक से जा रहे थे। रेलवे स्टेशन चौराहे के पास जाम लगा था। वहा पान की दुकान पर तीन युवक खड़े थे।
उनकी कार दुकान के सामने हाईवे पर खड़ी थी, जिसके चलते जाम लग रहा था। रामपुर में शराब के नशे में शहर के रईस घरों के तीन युवकों ने दारोगा को पीट दिया।
इतना ही नहीं उसकी वर्दी तक फाड़ दी। पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। घटना बुधवार देर रात करीब 11 बजे की है।
दारोगा ने तीनों युवकों से कार हटाने को कहा। युवकों ने दारोगा की बात को अनुसना कर दिया। इसी बात को लेकर दारोगा की युवकों से कहासुनी हो गई। अचानक युवकों ने दारोगा पर हमला कर दिया। उसके साथ मारपीट करने लगे।
वर्दी फाड़ दी। दारोगा ने फोन कर और पुलिस बुला ली। आरोप है कि इसके बाद युवकों ने कार से भागने का प्रयास किया। दारोगा ने पुलिस कर्मियों की मदद से उन्हें पकड़ना चाहा तो युवकों ने कार चढ़ा दी, जिससे पुलिस कर्मी बाल-बाल बचे।
हालाकि पुलिस कर्मियों ने तीनों को पकड़ लिया। कार और युवकों को थाने ले गए। रात में ही दारोगा का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया।
दारोगा के साथ हुई घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। एसपी शिवहरी मीना के निर्देश पर दारोगा की ओर से सिविल लाइंस कोतवाली में तहरीर दी, जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।
आरोपितों में शहर कोतवाली के मिस्टन गंज निवासी शोभित अग्रवाल, सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र के जौहर रोड स्थित
विजया बैंक वाली गली निवासी राहुल गुप्ता और जैन इंटर कॉलेज के पास रहने वाले नितिन अग्रवाल हैं। तीनों शहर के रईस घरों के हैं।
युवकों को छुड़ाने कई भाजपा नेता पहुंचे थाने
सत्ता पार्टी के नेताओं से भी रिश्तेदारी होने के चलते रात में ही युवकों को छुड़ाने के लिए कई भाजपा नेता थाने पहुंच गए, लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं छोड़ा।
सिविल लाइंस कोतवाल सुधीर कुमार ने बताया कि तीनों को कोर्ट में पेश करेंगे। उधर, युवकों के परिजन उनकी जमानत के लिए कचहरी के चक्कर लगा रहे हैं।
यह भी पढ़ें: गोरखपुर: कम अंक वाले को दे दी नौकरी और टापर को बुलाया ही नहीं शुरू हुई जांच

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More