KGMU के इमरजेंसी मेडिसिन विभाग शुरू होगी इवनिंग OPD

0 232
लखनऊ,। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के इमरजेंसी मेडिसिन विभाग में जल्द इवनिंग ओपीडी शुरू होगी।

 

इसके लिए शासन ने 17 रेजीडेंट डॉक्टर व एक एडिशनल प्रोफेसर का पद भी स्वीकृत कर दिया है और इसका विज्ञापन जल्द जारी कर भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद गंभीर रोगों से ग्रस्त रोगियों को इलाज में आसानी होगी।
शाम को ओपीडी में विशेषज्ञ डॉक्टरों के माध्यम से उनका इलाज हो सकेगा। केजीएमयू में यह पहला विभाग होगा जिसमें इवनिंग ओपीडी की सुविधा मरीजों को दी जाएगी।
केजीएमयू के इमरजेंसी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. हैदर अब्बास ने बताया कि भर्ती प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी करने की कवायद की जा रही है। इसके बाद इवनिंग ओपीडी शुरू की जाएगी। केजीएमयू प्रशासन तय करेगा कि
शाम को ओपीडी की टाइमिंग क्या हो, फिलहाल इससे मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी। गंभीर रोग से पीड़ित मरीज यहां पर आकर अपना इलाज करवाएंगे।
शासन की ओर से पद मिल चुके हैं और अब भर्ती प्रक्रिया शुरू की जा रही है। पदों के सापेक्ष आवेदन लेकर अभ्यर्थियों का चयन रेजीडेंट डॉक्टर और एडिशनल प्रोफेसर के पद पर किया जाएगा।
श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में मॉड्यूलर ओटी बनाई जा रही है। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दूबे के अनुसार, इस ओटी में अगले महीने से मरीजों को हाईटेक सुविधाएं मिलने लगेंगी।
मॉड्यूलर ओटी में आई सर्जरी के अलावा जनरल सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, आथरेपेडिक व प्लास्टिक सर्जरी भी हो सकेगी। अस्पताल में मॉड्यूलर ओटी बनाने की शुरूआत आई ओटी से की जा रही है।
ओटी का निर्माण पूरा होने में करीब एक महीना लग सकता है। ओटी आटोमेटिक टेबल समेत कई आधुनिक उपकरणों से लैस होगी।
यह भी पढ़ें: LDA दिल्ली और एनसीआर की तर्ज पर ‘राहगीरी एक्टिविटी’ करेगा आयोजित
डॉ. दूबे ने बताया कि पांच नए मॉड्यूलर ओटी बनाने बजट जारी कर दिया गया था।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More