महिला सांसद ने संसद में लहराया अंडरवियर

0 228
17 वर्षीय लड़की के बलात्कार के मामले में एक शख्स पर आरोप लगा था। ट्रायल के दौरान बचाव पक्ष की वकील ने ज्यूरी से पीड़िता के कपड़ों को लेकर टिप्पणी की। यही नहीं, वकील ने पीड़िता का अंडरवियर सबूत के तौर पर दिखाते हुए कहा था, ‘आपको देखना होगा कि उसने (लड़की) ने उस वक्त कैसे कपड़े पहने थे। उसने तब लेस (जालीदार) वाला थॉन्ग पहन रखा था।’ बता दें कि इस मामले में 27 वर्षीय आरोपी को बरी कर दिया गया था।
आयरलैंड में एक महिला सांसद ने संसद में सबसे सामने एक अंडरवियर लहरा कर दिखाया। ऐसा उन्होंने उस मानसिकता का विरोध जताने के लिए किया, जिसमें ‘पीड़िताओं को ही हमेशा दोषी’ (बलात्कार के मामलों में) मान लिया जाता है। 
महिला सांसद रुथ कॉपिंगर ने मंगलवार को इसी को लेकर अनोखा विरोध का तरीका अपनाया। उन्होंने नीले रंग का लेस वाला अंडयरवियर डेल (आयरलैंड की संसद) में लहराते हुए नाराजगी जाहिर की। वह बोलीं, “हो सकता है कि

यहां पर थॉन्ग्स लहरा कर दिखाना आप सब को खराब लगे…पर यह सोचने वाली बात है कि जब किसी बलात्कार पीड़िता या फिर अन्य महिला का अंडरवियर कोर्ट में दिखाया जाएगा, तो उसे कैसा लगा होगा।”
इससे पहले, कोर्क स्थित कोर्ट में छह नवंबर को आरोपी की वकील एलिजाबेथ ने थॉन्ग पेश कर यह भी कहा था कि क्या यह सबूत काफी नहीं है कि पीड़िता आरोपी को लेकर आकर्षित थी। वह किसी से मिलने या फिर किसी के साथ के लिए पूरी तरह से तैयार थी।
वकील ने इसी के साथ यह मामला सहमति से सेक्स का बताया था। यही कारण है कि न केवल देश की बल्कि विदेशों की कई महिलाओं ने भी ‘पीड़िता ही दोषी’ (विक्टिम ब्लेमिंग) को लेकर सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक मुहिम छेड़ दी।

पहले आयरलैंड की महिलाओं ने टि्वटर पर लेस वाले अंडरवियर के फोटोज पोस्ट किए। देखते ही देखते कुछ और

यह भी पढ़ें: वायरल विडियो में, ‘बाहुबली’ बने कमलनाथ, भल्लालदेव के अवतार में नजर आए शिवराज
देशों की महिलाओं ने भी उनकी मुहिम का समर्थन करते हुए टि्वटर पर लेस वाले थॉन्ग के फोटो साझा किए और आरोपी को दोषी ठहराने की मांग उठाई।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More