कपिल सिब्‍बल का पलटवार,क्या नरेंद्र मोदी भारत के इतिहास के बारे में कुछ भी जानते हैं?

0 221
कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि प्रधान मंत्री जो कहते हैं उस पर विचार करते हैं। मैं प्रधान मंत्री से उनके बारे में पूछना चाहता हूं जिन्होंने हीराकुंड बांध, सरदार सरोवर बांध, टिहरी बांध, भाखड़ा नांगल बांध बनवाया था?
मोदी जी या उनकी पार्टी के दादा-दादी ने? क्या वह भारत के इतिहास के बारे में कुछ भी जानते हैं? ये वो थे जो अंग्रेजों के साथ मिलकर काम कर रहे थे।
1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में उन्होंने अंग्रेजों के साथ पक्षपात किया। वह उनके पिता-दादी और नाना-नानियों का आचरण था। दुर्भाग्यवश वह अपने दादा-दादी के बारे में भी नहीं जानते, मेरी इच्छा है कि उनके बारे में जानें।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष पर जोरदार हमला बोलते हुए पूछा था कि क्या आपके दादा-दादी या नाना-नानी ने छत्तीसगढ़ में पानी का पाइप बिछाया है, जिसे रमन सिंह ने उखाड़ दिया हो।
पीएम मोदी शुक्रवार 16 नवंबर को छत्तीसगढ के सरगुजा संभा के अंबिकापुर विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी रैली को संबोधित करने गए थे। इसके अलावा पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा कि “कांग्रेस का मानना है कि

पंडित नेहरू के कारण ही आज एक ‘चायवाला’ प्रधानमंत्री बन पाया है। एक परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को कांग्रेस का अध्यक्ष बना दें, तो मैं ये मानने को तैयार हूं कि वे लोकतांत्रिक मूल्यों को महत्व देते हैं।
कांग्रेस पार्टी को नींद नहीं आ रही है कि ये हमारे परिवार की विरासत हमारी राजगद्दी को ये चाय वाला कैसे चुरा ले गया?”
पीएम ने कहा, “कांग्रेस ने देश में चार पीढ़ियों तक शासन किया लेकिन उसका हिसाब नहीं दिया ऊपर से हमसे हिसाब मांग रहे हैं। पहले अपने चार पीढ़ियों का हिसाब दो।” उन्होंने कहा, “इन लोगों को पाई-पाई का हिसाब देना चाहिए की नही देना चहिये?
हो जाये मुक़ाबला – एक ही परिवार की चार पीढ़ियों ने देश को क्या दिया और एक चायवाले ने चार साल में क्या दिया।”
यह भी पढ़ें: 1971 जंग के हीरो ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह का हुआ निधन
मोदी ने कहा, “श्रीमती इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओ का नारा दिया, गरीबी हटी क्या? जो ऐसे झूठे वादे करते है उनपर भरोसा करोगे क्या?”

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More