तीन मंत्री सहित कंडोम वाले ‘ज्ञानदेव’ और 15 विधायकों का कटा टिकट

0 207
भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा वही हैं जिन्होंने 2016 में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हर दिन ती हजार कंडोम मिलने का विवादित बयान दिया था। आहूजा ने कहा था- JNU में हर दिन पचास हजार हड्डी के टुकड़े, तीन हजार इस्तेमाल किए हुए कंडोम और
500 इस्तेमाल किए हुए अबॉर्शन इंजेक्शन मिलते हैं। यही नहीं इसके साथ ही आहूजा ने सिगरेट के दस हजार बट और स्टूडेंट्स पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों में ‘न्यूड डांस’ करने का भी आरोप लगाया था।
राजस्थान में 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने 31 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। गौरतलब है कि इस लिस्ट में किसी भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया गया है। इस लिस्ट में भाजपा ने 3 मंत्रियो और 15 विधायकों के टिकट काटे हैं और
उनकी जगह नए चेहरों की जगह दी है। काटे गए नामों की लिस्ट में विवादों में रहने वाले ज्ञानदेव आहूजा, धनसिंह रावत और राजकुमार रिणवा समेत कई और शामिल हैं।
बता दें धनसिंह रावत राजस्थान सरकार में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज राज्यमंत्री हैं। जो अपने बयानों के चलते सुर्खियों में बने रहते हैं। अभी हाल ही में उनके बेटे का एक वीडियो भी सामने आया था जिसमें वो एक कार चालक को पीटते दिख रहे थे।
गौरतलब है कि धनसिंह ने एक सभा में कांग्रेस को मुसलमानों की और भाजपा को हिंदुत्व की पार्टी बताया था। इसके साथ ही उन्होंने सनातन धर्म की रक्षा के लिए भाजपा के समर्थन की भी बात कही थी। बता दें इससे पहले उन्होंने विकास अधिकारियों को अरबी घोड़ा कहा था और बोला था कि उनको चाबुक से मारो। वहीं वो बांसवाड़ा में अधिकारियों को मुर्गा बनाने का विवादित बयान भी दे चुके हैं।
अपने बेतुके बयान से राजस्थान सरकार के मंत्री राजकुमार रिणवा ने सुर्खियां बंटोरी थी और भारतीयों के चरित्र पर उंगली उठाते हुए कहा था- यहां नेशनल कैरेक्टर नाम की कोई चीज नहीं है। इसके साथ ही एक दूसरे बयान में उन्होंने कहा था कि बाढ़ आ रही है उसमें भी पैसे लगते हैं। पेट्रोल की बढ़ती कीमत सबको दिखती है लेकिन बाढ़ के खर्चे नहीं दिखते।
भाजपा की दूसरी लिस्ट में जिन मंत्रियों के नाम नहीं हैं वो हैं राजकुमार रिणवा, बाबूलाल वर्मा और धनसिंह रावत। राजकुमार रिणवा रतनगढ़ सीट से विधायक है जहां से इस बार अभिनेष महर्षि को उतारा गया है। वहीं बाबूलाल वर्मा केशवरायपाटन से विधायक हैं जिनकी जगह चंद्रकांता मेघवाल को टिकट दिया गया है।
यह भी पढ़ें: जस्टिस चेलामेश्वर के बेटे को ‘गिरफ्तार’ करने की धमकी!
मंत्रियों के बाद बात अगर विधायकों की हो तो ज्ञानदेव आहूजा, किशनाराम नाई, लक्ष्मीनारायण बैरवा, आरसी सुनेरीवाल, जीतमल खांट, रानी कोली, शैतान सिंह, तरुण राय, छोटू सिंह, कृष्ण कड़वा, गीता वर्मा, राजकुमारी जाटव, मंगला राम, रानी सिलोटिया और शिमला बावरी का नाम शामिल है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More