दो बहनों समेत चार लड़कियां रहस्यमय तरीके से लापता

0 280
मुरादाबाद,। भगतपुर थाना क्षेत्र में गांव की रहने वाली चार लड़कियां रहस्यमय हालात में लापता होने से सनसनी फैल गई है। पुलिस ने बिसौली उदावली गांव में डेरा डाल दिया है,

 

लेकिन लड़कियों का सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा। गांव में लड़कियों की तलाश के लिए हर कोई परेशान दिखाई दे रहा है। 
बिसौली उदावला गांव के रहने वाले इकरार अहमद खेतीबाड़ी के कार्य में जुटे हैं। उनकी 14 वर्षीय बेटी व सातवीं की छात्रा तहज्जुब मंगलवार की दोपहर के वक्त पिता के लिए खाना लेकर घर से रवाना हुई।
ग्रामीणों के मुताबिक तहज्जुब के साथ गांव की तीन अन्य लड़कियां भी थीं। इसमें छह वर्षीय महरीन पुत्री इस्तयाक व सगी बहनें आठ वर्षीय सहनवी व उसकी छोटी बहन
सात वर्षीय जिकरा पुत्री नबी हसन, छह वर्षीय महजबी भी उनके साथ थीं। कुछ देर बाद महजबी घर लौट आई, लेकिन अन्य चारों लड़कियां देर शाम तक नहीं आईं।
इकरार ने जब सुना कि तहज्जुब व गांव की तीन अन्य लड़कियां अब तक नहीं लौटी हैं तो वे दंग रह गए। इकरार ने लड़कियों के खेत जाने से अनभिज्ञता जताई। घटना की जानकारी तत्काल पुलिस को दी गई।
पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से क्षेत्र में कांबिंग शुरू की। ठाकुरद्वारा सर्किल क्षेत्र की पुलिस लड़कियों की तलाश में जुटी रही।
एसपी ग्रामीण उदय शंकर सिंह व सीओ ठाकुरद्वारा विशाल यादव के नेतृत्व में एक-एक कर खेत खंगाले जाने का सिलसिला देर रात तक जारी रहा। एसपी देहात ने बताया कि लड़कियों की तलाश जारी है।
घर लौटी बच्ची से पूछताछ की गई है। उसके द्वारा दी गई सूचनाओं के आधार पर लड़कियों को बरामद करने की कोशिश की जा रही है।
थाना अध्यक्ष प्रिंस शर्मा द्वारा चारों लापता मासूम बच्चों की तलाश के लिए चार टीमें बनाकर बच्चों की खोजबीन के लिए निकाल दी गई है।
थानाध्यक्ष ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से एक बार फिर बच्चों के बारे में जानकारी लेकर उनकी तलाश शुरू कर दी है। सुबह तक बच्चों का कहीं कुछ पता नहीं चला।
यह भी पढ़ें: अब CBI के उप कानूनी सलाहकार पे फर्जीवाड़े में एफआईआर दर्ज
बच्चियों की तलाश के लिए पुलिस हरसंभव प्रयास कर रही है। 

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More