मिजोरम: मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त, मतदान से ऐन पहले हटाए गए

0 196
आयोग की इस कार्रवाई से पहले शशांक के खिलाफ राज्य में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। पिछले हफ्ते इसी संबंध में कुछ गैर-सरकारी संस्थाओं के प्रतिनिधियों का एक समूह चुनाव आयोग के पैनल से मिला था, जहां शशांक को उनके पद से हटाए जाने की मांग उठी थी।
भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने गुरुवार को मिजोरम के मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईओ) एसबी शशांक को मतदान से ऐन पहले हटा दिया। ईसीआई ने गुरुवार (15 नवंबर) को उनकी जगह तत्काल प्रभाव से आईएएस अधिकारी आशीष कुंद्रा को राज्य का नया सीईओ नियुक्त किया है। 
गैर-सरकारी संस्थाओं ने इसी के साथ शशांक के उस फैसले पर भी आपत्ति जताई। उसमें उन्होंने (शशांक ने) वोटिंग के मिजोरम के ब्रू रिफ्यूजियों के लिए त्रिपुरा में खास बंदोबस्त करने की बात कही थी, जबकि संस्थाओं ने रिफ्यूजियों के नजदीकी मतदान केंद्र पर जाकर वोट डालने की बात पर बल दिया।
 इससे पहले, ऐजावल स्थित शशांक के दफ्तर के बाहर दो दिन तक भीषण विरोध प्रदर्शन भी हुए थे, जिसके बाद उन्हें दिल्ली समन किया गया।
हालांकि, पिछले हफ्ते चुनाव संबंधी पैनल ने उन खबरों को सिरे से खारिज किया था, जिनमें शशांक को पद से हटाए जाने की बातें कही जा रही थीं। साथ ही यह भी कहा गया था कि आगे के कदम सिर्फ और सिर्फ डिप्टी चुनाव आयुक्त सुदीप जैन की रिपोर्ट करेगी।

पर अगले दिन तब मिजोरम सरकार से उन लोगों की सूची मांगी, जिन्हें उनके पद की कमान सौंपी जा सकती थी।
मुख्यमंत्री लाल थानहावला ने इस महीने की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें शशांक को हटाने का जिक्र किया गया था।
कारण- शशांक पर आरोप है कि प्रिंसिपल होम सेक्रेट्री एल.चुआंगो के ट्रांसफर में उनकी भूमिका है। आयोग ने चुआंगो का ट्रांसफर शशांक के आरोप के बाद किया था।
आपको बता दें कि मिजोरम समेत पांच राज्यों (मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना) में इस साल के अंत में चुनाव होने हैं।
यह भी पढ़ें: दर्जी ने फैशन डिजाइनर और नौकर की हत्या
मिजोरम में 28 नवंबर को वोटिंग होनी है, जबकि सभी राज्यों में हुए मतदान के नतीजे 11 दिसंबर को जारी किए जाएंगे। ऐसे में मतदान से कुछ रोज पहले चुनाव आयोग की यह कार्रवाई शशांक के लिए बड़ा झटका मानी जा रही है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More