सेना ने दो स्थानों पे हुई मुठभेड़ में मार गिराए 7 नक्सली

0 257

रायपुर/सुकमा,। सुरक्षा बलों ने दो स्थानों पर हुई मुठभेड़ में सात नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया है। दो नक्सलियों के शव बरामद भी कर लिए गए हैं। मुठभेड़ में पांच जवान घायल हो गए हैं।

छत्तीसगढ़ में प्रथम चरण में 18 सीटों पर हुए मतदान में नक्सलियों ने विघ्न डालने की हर संभव कोशिश की, लेकिन सुरक्षा बलों की चौकसी से वह अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सके।

सोमवार शाम करीब साढ़े पांच बजे जब पोलिंग पार्टियां वापस लौट रही थीं तब चितलनार के पास घात लगाए बैठे नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी।

डीआरजी व सीएएफ के जवानों ने जवाबी फायरिंग की तो नक्सली भाग खड़े हुए। गोलीबारी थमने पर मौके से दो नक्सलियों के शव बरामद किए गए।

शवों की शिनाख्त मीतू और जोगा के रूप में हुई है। दोनों प्लाटून नंबर 31 कांगेर वैली में दरभा डिवीजन से जुड़े थे।

दूसरी मुठभेड़ के बारे में स्पेशल डीजी (नक्सल ऑपरेशन) डीएम अवस्थी ने बताया कि बीजापुर जिले के पामेड़ इंपूर के पास कोबरा 204 बटालियन के जवान तलाशी अभियान पर निकले थे। इसी बीच जवानों का नक्सलियों से आमना-सामना हो गया।

करीब पांच घंटे तक गोलीबारी चली। इसमें असिस्टेंट कामांडेंट अमित देशवाल, सब इंस्पेक्टर लालचंद, हेड कांस्टेबल सुनील, कांस्टेबल चैतन्या व मोहंती को गोली लगी है, लेकिन घायल जवान खतरे के बाहर हैं।

जिस इलाके में गोलीबारी हो रही थी, वहीं पास में मतदान केंद्र बनाया गया था। नक्सली मतदान में विघ्न डालने की मंशा से पहुंचे थे।

कहीं विस्फोट, कहीं आईईडी बरामद

नक्सलियों ने सुबह दंतेवाड़ा विधानसभा के कटेकल्याण ब्लॉक के नयानार गांव के पास मतदान केंद्र के निकट आइईडी ब्लास्ट किया। यह ब्लास्ट मतदान दल के जाने के रास्ते से कुछ दूरी पर स्थित सूने रास्ते पर किया गया था।

कांकेर में नक्सलियों ने भानुप्रतापपुर विधानसभा के कोडेकुर्से के पास एक मतदान केंद्र में आइईडी लगा दिया था,

यह भी पढ़ें: नक्सलियों पे भारी पड़ा लोकतंत्र, हुआ 70 फ़ीसदी मतदान

मतदान दल के सुबह पहुंचने पर जांच के दौरान इसका पता चला। तत्काल ही मतदान केंद्र को वहीं पास के एक पेड़ के नीचे शिफ्ट किया गया।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More