टिकट कटने से नाराज मुस्लिम विधायक ने छोड़ी बीजेपी

0 206
राजस्थान सरकार में मंत्री रहे सुरेंद्र गोयल ने भी बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि सुरेंद्र गोयल 5 बार विधायक रह चुके हैं। वहीं पार्टी के 20 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ने की धमकी दी है। बीजेपी ने 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पहली लिस्ट जारी कर दी है।
इस लिस्ट में 131 कैंडिडेट्स के नाम शामिल हैं। राजस्थान में चुनाव आने वाले हैं। इस बीच बीजेपी के एक मुस्लिम विधायक ने पार्टी छोड़ दी है। ऐसी उम्मीद है कि पार्टी छोड़ने वाले एमएलए हबीबुर रहमान कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।
लिस्ट आने के एक दिन बाद ही विधायकों के इस्तीफा आने शुरू हो गए हैं। दरअसल सुरेंद्र गोयल इस बार विधनसभा चुनाव में पार्टी से टिकट नहीं मिलने से नाराज हैं जिसके चलते उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। वहीं ऐसी उम्मीद है कि सुरेंद्र गोयल 17 नवंबर को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं।
अपने इस्तीफा में सुरेंद्र गोयल ने लिखा, ‘मैं सुरेंद्र गोयल विधायक विधानसभा क्षेत्र जैतारण (116) भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र देता हूं। अत: आप मेरा इस्तीफा स्वीकार करें।’ बीजेपी ने अपनी 131 प्रत्याशियों की लिस्ट में 85 मौजूदा विधायकों को जगह दी है।
राजस्थान में विधानसभा की 200 सीट हैं। पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनाव में 200 में से 163 सीटों पर जीत दर्ज कर सरकार बनाई थी। एबीपी न्यूज के सर्वे के मुताबिक देखा जाए तो राजस्थान में 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 84 सीट मिलती नजर आ रही हैं।
इसके अलावा कांग्रेस के खाते में 110 सीटें जाती नजर आ रही हैं। वहीं अन्य को 06 सीट मिलती नजर आ रही हैं। सर्वे के मुताबिक राजस्थान में वोटिंग फीसदी की बात करें तो
यहां बीजेपी को 41 फीसदी वोट मिलते नजर आ रहे हैं। वहीं कांग्रेस के खाते में 45 फीसदी वोट जाते नजर आ रहे हैं। इसके अलावा अन्य को 14 फीसदी वोट मिलते दिखाई दे रहे हैं।
दरअसल भाजपा को डर है कि कहीं 2008 जैसा हाल न हो जाए। 2008 के चुनाव में बागियों ने वसुंधरा राजे की खिलाफत में पार्टी के खिलाफ बिगुल बजा दिया था। इससे पार्टी को करीब 15 से ज्यादा सीटों का नुकसान हुआ था।
यह भी पढ़ें: डीएम ने सरकारी अस्पताल में करवाई पत्नी की डिलीवरी!
तब बीजेपी को केवल 78 सीट पर ही जीत हासिल हो पाई थी और कांग्रेस के खाते में 96 सीट चली गई थीं, तो कांग्रेस ने निर्दलीय विधायकों के साथ मिलकर अपनी सरकार बना ली थी।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More