गोवा-मुंबई में रेड अलर्ट; दिल्ली और 10 अन्य राज्यों में भारी बारिश की संभावना, पहाड़ी इलाकों में भरभराकर गिर रहे पहाड़

राष्ट्रीय जजमेंट न्यूज

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शनिवार को गोवा में रेड अलर्ट जारी किया, जिसके अनुसार अगले कुछ दिनों तक राज्य में भारी से अत्यधिक भारी बारिश जारी रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने मंगलवार के लिए मुंबई में भी रेड अलर्ट जारी किया, क्योंकि शहर में 9 जुलाई की सुबह सिर्फ़ तीन घंटों में 176 मिमी बारिश हुई।IMD के अनुसार, पिछले 24 घंटों में तटीय राज्य में मानसून सक्रिय रहा है। मौसम एजेंसी ने महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण कम दृश्यता की भविष्यवाणी की और 11 और 12 जुलाई के लिए राज्यों के कुछ हिस्सों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया। इसके अलावा, इस सप्ताह 10 अन्य राज्यों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।गोवा में सोमवार को लगातार तीसरे दिन भारी बारिश हुई, जिससे कई निचले इलाकों में पानी भर गया तथा दो दिन में दीवार गिरने की घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई। पणजी के निकट मंदुर गांव में सोमवार को एक घर की दीवार गिरने से 70-वर्षीय महिला और उसके 51-वर्षीय बेटे की मौत हो गई।IMD ने इस सप्ताह मध्यम से भारी बारिश की उम्मीद के बीच मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, महाराष्ट्र और कर्नाटक के कुछ हिस्सों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया।मौसम विभाग ने 9 जुलाई के लिए उत्तराखंड में भी बारिश का अलर्ट जारी किया है। विभाग ने कहा है कि मध्यम से भारी बारिश के साथ-साथ बिजली और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। आईएमडी ने कहा, “10 जुलाई को टिहरी, पौड़ी, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल और चंपावत जिलों में भी भारी बारिश का अनुमान है।” दिल्ली के लिए मौसम विभाग ने राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश का अनुमान लगाया है। मंगलवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह के समय शहर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हुई।आईएमडी ने सोमवार को मुंबई और पुणे के लिए रेड अलर्ट जारी किया। दोनों शहरों में मंगलवार को स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे। रायगढ़ में भी भारी बारिश और कुछ इलाकों में जलभराव के कारण शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए। आईएमडी ने 12 जुलाई तक पालघर, ठाणे, धुले, नंदुरबार, जलगांव, नासिक, अहमदनगर, कोल्हापुर, सांगली, शोलापुर, औरंगाबाद, जालना, परभणी, बीड, हिंगोली, नांदेड़, लातूर, उस्मानाबाद, अकोला, अमरावती, भंडारा, बुलढाणा, चंद्रपुर, गढ़चिरौली, गोंदिया, नागपुर, वर्धा, वाशिम और यवतमाल में भारी से मध्यम वर्षा की भविष्यवाणी की है।असम में बाढ़ की स्थिति में मामूली सुधारअसम में बाढ़ की स्थिति में मामूली सुधार हुआ है, हालांकि अब भी 27 जिलों में बाढ़ से प्रभावित लोगों की संख्या करीब 18.80 लाख है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को राज्य में छह और लोगों की मौत हो जाने से इस वर्ष बाढ़, भूस्खलन और तूफान से मरने वालों की संख्या बढ़कर 85 हो गई है। ब्रह्मपुत्र सहित कई प्रमुख नदियां विभिन्न स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं तथा कुछ स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है।अधिकारियों ने बताया कि अब 27 जिलों में 18,80,700 लोग प्रभावित हैं जबकि रविवार को करीब 22.75 लाख लोग बाढ़ से पीड़ित थे। राज्य में धुबरी जिला बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित है, जहां करीब 4.75 लाख लोग बाढ़ की समस्या से जूझ रहे हैं। इसके बाद कछार में दो लाख से अधिक लोग और बारपेटा में करीब 1.36 लाख लोग बाढ़ से पीड़ित हैं।

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More