योगी प्रेमी की बारात निकली बुल्डोजर के साथ

144

बहराइच: जिले में श्रावस्ती से बीते शनिवार को एक दूल्हे की ‘बुलडोजर’ से बारात आई. बुलडोजर वाली इस बारात ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ‘बुलडोजर’ प्रतीक चिह्न बन गया है. यहां तक कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद योगी आदित्यनाथ को ‘बुलडोजर बाबा’ का नाम भी दे दिया गया है.
शनिवार को बहराइच जिले के रिसिया ब्लॉक के अंतर्गत लक्ष्मणपुर शंकरपुर निवासी सलीम की बेटी रुबीना का निकाह श्रावस्ती के बादशाह के साथ हुआ. दुल्हन के घर पहुंचने से पहले दूल्हे बादशाह को बुलडोजर पर बैठाकर चौराहे पर घुमाया गया. इस दौरान बाराती अकील, भूरे, शकील समेत कई लोग बुलडोजर पर सवार थे. बारातियों, घरातियों और क्षेत्र के लोगों में इस कदर उत्साह था कि चौक पर ‘बुलडोजर बाबा की… जय’ की नारेबाजी होने लगी
श्रावस्ती से आए बाराती भूरे प्रधान ने कहा कि कारें तो सभी लाते हैं. कभी हाथी-घोड़ों पर बारात लाने का भी प्रचलन था. हम लोगों ने बुलडोजर पर बारात लाने का फैसला किया और ‘बादशाह-रुबीना’ के निकाह को यादगार बनाने की सोची. उन्होंने कहा कि यहां के लोगों द्वारा इस पहल को तवज्जो देना और भी अच्छा लगा.बहराइच सदर सीट से भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी जी का बुलडोजर सभी समुदायों के बीच सुशासन के प्रतीक के रूप में लोकप्रिय हो रहा है. बुलडोजर सिर्फ अपराधियों के लिए ही भय का प्रतीक हो सकता है, शांतिप्रिय आमजन तो इसे शांति और अनुशासन का प्रतीक मानने लगे हैं. मुस्लिम समुदाय की बारात में इसका शामिल होना सभी समुदायों में योगी सरकार की लोकप्रियता का ज्वलंत उदाहरण है.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More