शादी समारोह में तेज आवाज डीजे बजने से महिला को पड़ा दिल का दौरा, मौत

37

शादी समारोह में तेज आवाज के साथ बज रहे डीजे-बैंड बाजों की धमक से एक महिला का दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। घटना की सूचना पुलिस को नहीं दी गई। परिजनों ने महिला का अंतिम संस्कार कर दिया। महिला की मौत पर परिवार में कोहराम मच गया।

रविवार की रात्रि में कोसी नगर में डीजे-बैंड बाजों के साथ निकल रही दूल्हे की निकासी को देखने के लिए भगवती रोड पर गीता (55) देखने पहुंचीं। बैंड बाजा के साथ तेज आवाज से डीजे भी बज रहा था। इसमें बराती डांस कर रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बैंड बाजा-डीजे की धमक से महिला अचानक सड़क पर गिर गई। महिला के गिरते ही वहां खड़े परिवार व आस पड़ोस के लोग आ गए। महिला को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने बगैर किसी कार्रवाई के ही महिला का अंतिम संस्कार कर दिया।

जिला प्रदूषण अधिकारी अरविंद सिंह का कहना है कि बैंड बाजा व डीजे बजाने के लिए अनुमति लेने की आवश्यकता होती है। 75 डेसीबल से अधिक बजाने पर पाबंदी है। इससे अधिक तेज आवाज किसी के  लिए भी खरतनाक को सकती है।

डीजे-बैंड बाजों की तेज आवाज और तेज रोशनी के चलते लोग डिप्रेशन में आ जाते हैं। उस स्थिति में घबराहट और बेचैनी हो जाती है। शरीर में ब्लड की कमी के चलते दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है। -डॉ. गिरेंद्रपाल सिंह, प्रभारी सीएचसी, कोसीकलां

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More