गांव में रोड पर भरा पानी से गांव वासी हुए डेंगू के शिकार

164

एटा जैथरा। इस भीषण गर्मी के साथ-साथ डेंगू, मलेरिया, वायरल फीवर ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा ही फैल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू के काफी मरीज मिल रहे हैं। डॉक्टरों के यहां भी ज्यादातर मरीज डेंगू से पीड़ित हैं। शासन ने ग्रामीण क्षेत्रों के सचिव व प्रधानों को आदेशित किया है कि यदि ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू के मरीज मिलते हैं तो उनके जिम्मेदार प्रधान होंगे ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं। इससे यह जाहिर है कि गांवों में डेंगू मलेरिया की दवाई का छिड़काव नहीं हुआ है किसी-किसी गांव में सड़क पर पानी भरा हुआ है।

जिससे पानी के सड़ने के कारण मच्छर पैदा हो रहे हैं जो भयंकर बीमारियों को आमंत्रित कर रहे हैं । एक ऐसा ही गाँव जैथरा मै समोगर है। इस गांव के प्रधान सतीश शाक्य हैं। इस गांव में सड़क तो बनी है किंतु सड़क पर पानी भरा हुआ है ।कोई निकलने की जगह नहीं है पानी भरे होने के कारण कई गांव के बुजुर्ग लोग गिर भी जाते हैं । लोगों को पानी से होकर गुजरना पड़ता है ।

भरे हुए पानी के किनारे मां भगवती दुर्गा का मंदिर है। मंदिर के दरवाजे तक पानी भरा होने के कारण महिलाएं पूजा-पाठ को नहीं जा पाती हैं। गांव के प्रधान अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह नहीं निभा पा रहे हैं। लोगों ने प्रधान से कई बार शिकायत की लेकिन उनके ऊपर जूं तक नहीं रेंगी। शायद किसी अप्रिय घटना का इंतजार कर रहे हैं। गाँव के बाशिंदे शशिलता,शारदा देवी, सुषमा देवी, सरोज देवी, शारदा देवी, द्रोपा, चेतना, रेखा, विपन शर्मा, महेश बाबू शर्मा, कौशल शर्मा,ओमपाल, रामौतार, रतन, जगत नारायण, रामवीर, सत्यपाल ने पानी को निकलवाने की मांग की है |

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More