उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव : बेरोजगारों को नौकरी देने की योजना

418

यूपी सरकार 2022 विधानसभा चुनाव से पहले बेरोजगारों को नौकरी देने के लिए देर से ही सही पर अब प्रयास करती दिख रही है इसी को लेकर अधीनस्थ सेवा चयन आयोग  की प्रारंभिक अर्हता परीक्षा 19 अगस्त को कराने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को भर्ती व चयन आयोगों के अध्यक्षों के साथ बैठक में UPSSSC के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

आयोग के चेयरमैन प्रवीर कुमार ने बताया है कि  पीईटी कीलिखित परीक्षा प्रदेश के समस्त जिलों में होगी। बड़ी संख्या में आवेदक होने की वजह से परीक्षा दो पालियों में आयोजित होगी। इसमें 20 लाख 73 हजार 540 अभ्यर्थी शामिल होंगे। चूंकि लिखित परीक्षा दो पालियों में होगी इसलिए प्रश्नपत्र के कठिनाई के स्तर को समान रखने के लिए नार्मलाइजेशन की व्यवस्था लागू होगी। नार्मलाइजेशन का फार्मूला पहले ही आयोग जारी कर चुका है। पीईटी की परीक्षा दो घंटे में संपन्न होगी। 100 बहुविकल्पीय प्रश्नों की लिखित परीक्षा में निगेटिव मार्किंग लागू है। प्रत्येक गलत प्रश्न पर 1/4 अंक कटेंगे।

बताया जा रहा है कि आयोग ने 14 अगस्त या उसके बाद कभी भी लिखित परीक्षा के लिए तैयार होने की बात की थी। शासन ने 14 अगस्त के दूसरे दिन 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस होने के मद्देनजर प्रदेश के समस्त जिलों में इतनी बड़ी परीक्षा कराने को उपयुक्त नहीं पाया। इसके अलावा अगले रविवार 22 अगस्त को रक्षाबंधन होने की वजह से उस दिन परीक्षा संभव नहीं थी।

शासन ने पीईटी परीक्षा में और देरी न करने का निर्णय कराते हुए कार्यालय दिवस में 19 अगस्त को पीईटी परीक्षा कराने को हरी झंडी दे दी। सूत्रों ने बताया कि आयोग अगस्त में पीईटी कराने के बाद दो महीने में रिजल्ट देकर अक्तूबर में 25 से 30 हजार रिक्त पदों पर भर्ती के लिए मुख्य परीक्षा करा सकता है। परीक्षा एजेंसियों का चयन आयोग ने कर लिया है।

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की प्रारंभिक अर्हता परीक्षा  19 अगस्त को करा पाना आसान नहीं है। 19 को मुहर्रम है। इस दिन पूरा प्रशासनिक अमला शांति-व्यवस्था में व्यस्त रहता है।शासन स्तर पर परीक्षा तिथि के निर्धारण में स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन का तो ध्यान दिया गया। मगर, मुहर्रम को बिना ध्यान में दिए परीक्षा तिथि को मंजूरी दे दी गई। मुहर्रम एक संवेदनशील त्योहार माना जाता है। पूरी प्रशासनिक मशीनरी इसे सकुशल संपन्न कराने में व्यस्त रहती है। ऐसे में मुहर्रम के दिन परीक्षा संभव नहीं मानी जा रही है।

लखनऊ संबाददाता

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More