पार्टी का देश भर में विस्तार करने के मकसद से तृणमूल कांग्रेस का पार्टी तोड़ो अभियान शुरू

31

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी अभी दिल्ली दौरे पर हैं और चर्चा हैं कि वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकती हैं। उससे पहले ममता की मौजदूगी में कांग्रेस के पूर्व नेता अशोक तंवर टीएमसी में शामिल होने जा रहे हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद के भी टीएमसी में शामिल होने की चर्चा तेज है।

राष्ट्रीय राजनीति में आने और पार्टी का देश भर में विस्तार करने के मकसद से तृणमूल कांग्रेस का पार्टी तोड़ो अभियान जारी है। इसके लिए टीमसी कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (यूनाइटेड) समेत कई पार्टियों के नेताओं को निशाना बना रही है ताकि अलग-अलग राज्यों में टीएमसी का संगठन मजबूत हो और 2024 के लोकसभा चुनाव में वह एक मजबूत संगठन और पैन इंडिया मौजूदगी के साथ उतर सकें।

सेक्युलर नेताओं के लिए टीएमसी बना नया प्लेटफॉर्म

बंगाल की राजनीति को खूब समझने वाले वरिष्ठ पत्रकार गौतम लहरी कहते हैं ममता उन्हीं लोगों को जोड़ रही हैं जो कांग्रेस या दूसरी पार्टियों में किनारा कर दिए गए हैं या उपेक्षित है। भाजपा में जो हार्ड कोर संघ की पृष्ठभूमि वाले लोग हैं वे तो टीएमसी में नहीं आएंगे|

लेकिन सेक्युलर छवि वाले नेता जो एक दूसरे विकल्प की तलाश कर रहे हैं उन्हें टीएमसी एक प्लेटफॉर्म मुहैया करा रही है। यही सेक्युलर छवि वाले नेता पैन इंडिया टीएमसी की मौजदूगी के बाद 2024 में ममता को प्रधानमंत्री पद के लिए  दमदार उम्मीदवार घोषित कर सकते हैं।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More