भारतीय जनता पार्टी को अलविदा कहने वाले विधायकों की संख्या लगातार जारी है

43

आज स्वामी प्रसाद मौर्य के समाजवादी पार्टी ज्वाइन करते ही  कई और भाजपा विधायक समाजवादी पार्टी में शामिल होंगे इस तरह की सूचनाएं अंदर खाने से मिल रही हैं अनुप्रिया पटेल पर भी सुसपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर लगातार नजर बनाए हुए हैं दो-तीन दिन में काफी कुछ बदलाव देखने को मिलेगा अब तक लगभग 18 भाजपा विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता छोड़ दी है अंदर खाने से मिल रही सूचनाओं के आधार पर तीन या चार मंत्री भी भारतीय जनता पार्टी छोड़ने को तैयार बैठे हैं

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान होने बाद इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी में भी एक के बाद एक एक इस्तीफों की झड़ी सी लग गई है. अपने विधायकों के बाद पार्टी के सहयोगी दल भी पार्टी का साथ छोड़ने में लगे हुए हैं.बीजेपी के सहयोगी दल अपना दल (एस) के 2 विधायकों ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है.

इन दो विधायकों में प्रतापगढ़ की विश्वनाथगंज सीट आरके वर्मा और सिद्धार्थनगर की शोहरतगढ़ सीट से चौधरी अमर सिंह का नाम शामिल है उन्होंने कहा कि सरकार की दलित-पिछड़ा विरोध के कारण ही सदन में लगभग 140 विधायकों ने धरना दिया था, लेकिन उस धरने को दबा दिया गया, उन विधायकों को बुलाकर जिस तरीके से धमका कर डराया गया और उन्हें जेल भेजने का डर दिखाया गया, उनके घरों पर बुलडोजर चलवाने का उन्हें डर दिखाया गया, तब उनकी जुबान को दबा दिया गया उसी समय में पार्टी से इस्तीफा देना चाहते थे.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More