‘द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को मिल रही जान से मारने की धमकी

126

विवेक अग्निहोत्री को मिली Y श्रेणी की सिक्योरिटी, उमर अब्दुल्ला बोले- फिल्म सच्चाई से बहुत दूर

लखनऊ। ‘द कश्मीर फाइल्स’ रिलीज के बाद से ही नए रिकॉर्ड बना रही है। इसके साथ ही अब भारत सरकार ने फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को ‘Y’ कैटेगरी की सुरक्षा दी है। विवेक को यह सुरक्षा पूरे भारत मे देगी। डायरेक्टर को यह सुरक्षा धमकी भरे कॉल और मैसेज के चलते मिली है। उन्होंने अपनी जान को खतरा भी बताया था। इसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर दी थी। सरकार ने विवेक के पहले कंगना रनोट को भी ‘Y’ कैटेगरी की सुरक्षा दी थी।

विवेक अग्निहोत्री ने दावा किया था कि उन्हें इस फिल्म के लिए जान से मारने की धमकियां मिल रही है फिल्म के रिलीज होने से पहले विवेक अग्निहोत्री ने अपना ट्विटर अकाउंट भी डी-एक्टिवेट कर दिया था उन्होंने कहा था कि मेरा इनबॉक्स धमकियों और अश्लील मेसेज से भरा हुआ है मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकियां भी मिल रही है इसी कारण उन्हें यह सुरक्षा दी गई है।
नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व उमर अब्दुल्ला ने कहा कि फिल्म सच्चाई से बहुत दूर है

क्योंकि फिल्म निर्माताओं ने आतंकवाद से पीड़ित मुसलमानों और सिखों के बलिदान को नजरअंदाज किया है अब्दुल्ला ने कहा कि अगर ‘द कश्मीर फाइल्स’ एक कमर्शियल फिल्म है तो किसी को कोई समस्या नहीं है लेकिन अगर फिल्म निर्माता दावा कर रहे हैं कि यह सच्चाई है, तो फैक्ट अलग है कुलगाम जिले के दमल हांजी पोरा में मीडिया से बातचीत में अब्दुल्ला ने कहा, जब कश्मीरी पंडितों का पलायन हुआ, तब फारूक अब्दुल्ला मुख्यमंत्री नहीं थे। जगमोहन राज्यपाल थे केंद्र में वीपी सिंह की सरकार थी जिसे भाजपा ने बाहर से समर्थन दिया था उन्होंने कहा कि इस फैक्ट को फिल्म से दूर क्यों रखा गया है।
लोकबंधु अस्पताल मे बलरामपुर ब्लड बैक के सहयोग से रक्तान शिविर का होगा आयोजन

लखनऊ। राजधानी स्थित लोकबंधु अस्पताल मे रक्तदान शिविर का आयोजन बलरामपुर ब्लड बैंक के सहयोग से किया जायेगा। इसके साथ ही मरीजो की सुविधाओ के लिए लोकबंधु अस्पताल परिसर के प्रथम तल पर पैथोलॉजी विभाग मे कैम्प आयोजित किया जाएगा।
यह जानकारी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ अजय शंकर त्रिपाठी ने देते हुए बताया कि लोकबंधु अस्पताल में ब्लड बैंक ना होने की वजह से भर्ती मरीजों को असुविधा होती है इसलिए यह कैंप संवेदना दी फाउंडेशन की ओर से आयोजित किया जा रहा है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More