शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नही होता, सरकारी बन्दिशों से होता है मुक्त – शिवचन्द राम

134

मऊ। रविवार को शिक्षक कभी भी रिटायर नहीं होता। वह सिर्फ सरकारी बंधनों से मुक्त होता है। इससे मुक्त होने के बाद उसकी सामाजिक और सांस्कृतिक जिम्मेदारियां और ज्यादा बढ़ जाती हैं। सामाजिक उत्थान में उसकी भूमिकाएं पहले की अपेक्षा और ज्यादा बढ़ जाती हैं।

उक्त बातें उत्तर प्रदेशीय अनु.जाति/जनजाति बेसिक शिक्षक महासंघ उ.प्र. मऊ वाणी कोट, भीटी में आयोजित सेवानिवृत्त शिक्षक सम्मान समारोह एवं शैक्षिक उन्नयन संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं पूर्व जिला विद्यालय निरीक्षक शिवचन्द राम ने कहीं। सेवानिवृत्त शिक्षक तपेश्वर राम, रामचंद्र एवं कलावती देवी को बुके और अंगवस्त्र देकर सम्मानित करते हुए उन्होंने कहा कि आज हम जिस संकट के दौर से गुजर रहे हैं, उससे हमें एक शिक्षक ही उबार सकता है। वही हमें सही रास्ता दिखा सकता है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि पूर्व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मऊ व खण्ड शिक्षा अधिकारी कोपागंज अशोक कुमार गौतम ने कहा कि शिक्षक अपने जीवन का सबसे अधिक और कीमती समय समाज को जागरूक करने में लगाता है। ऐसे शिक्षकों का सम्मान करना हमारे लिए गर्व की बात है।

विशिष्ट अतिथि खण्ड शिक्षा अधिकारी आर.पी.राम ने कहा कि शिक्षक समाज का दर्पण होता है हमे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के प्रति समर्पित रहते हुए शिक्षक को गुरु की भूमिका में होना ही वास्तविक शिक्षा का उद्देश्य होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रांतीय अध्यक्ष डॉ. रामविलास भारती ने कहा कि बच्चों के मन में राष्ट्रवाद की भावना जगाना, उनमें संवैधानिक एवं सामाजिक जिम्मेदारियों का भाव भरना एक शिक्षक ही करता है। वह ईमानदारी से अपने दायित्व का निर्वहन करता है। ऐसे शिक्षक हमारे लिए सम्माननीय हैं। अंत में कार्यक्रम के आयोजक जिलाध्यक्ष बाबूराम ने सभी का आभार व्यक्त किया।
कार्यक्रम का संचालन आयोजक जिला महामंत्री सुभाष चन्द राम ने किया।

कोविड 19 के नियमों का पालन करते हुए इस अवसर पर मुख्य रूप से मुख्य शाखा प्रबंधक बड़ौदा यू.पी.बैंक मुखराम, प्रान्तीय विधिक सलाहकार सुग्रीव प्रसाद, रामरतन, डॉ. तेजभान, मदन लाल, एडवोकेट प्रेमचन्द कौशल, भारती, बालकिशुन, वीरेन्द्र कुमार, हरेंद्र कुमार, गोपाल जी, विजय बहादुर, चंदन भारती, मुकेश कुमार, एडवोकेट विजय कुमार, रविकान्त गौतम, जितेन्द्र, शरद चांद, प्रेमचन्द, बुद्धू, इंदल, रामप्रीत, विमल साहनी, मुकेश, गुलाब चंद, सत्येन्द्र, मनोज, पृथ्वीराज, उत्तम चंद,अनिता, चंद्रावती, विनोद कुमार विमल कुमार सहित उत्तर प्रदेशीय अनु.जाति/अनु.जनजाति बेसिक शिक्षक महासंघ जनपद मऊ के अनेक शिक्षक और बुद्धिजीवी उपस्थित रहे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More