भोपाल: कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने की पार्टी की घोषणा

0 158
कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने बुधवार को सर्व समाज कल्याण पार्टी की घोषणा की। पार्टी प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी।
ठाकुर ने कहा कि सरकार को एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के लिए दो माह का समय दिया था, जिसकी मियाद चार नवंबर को पूरी हो रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी की रणनीति क्या रहेगी और उसमें उनकी क्या भूमिका होगी, यह गुरुवार को उज्जैन में घोषित करेंगे।
एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के बाद सरकारों के खिलाफ मुखर हुए कथावाचक और अखंड भारत मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवकीनंदर ठाकुर बुधवार को राजधानी में थे। उन्होंने कहा कि मेरी कोई पार्टी नहीं है।
मैं पार्टी में पदाधिकारी नहीं हूं। सर्व समाज कल्याण पार्टी के लोगों के विचार अच्छे लगे। इसलिए उनके साथ खड़ा हो गया। इस पार्टी के अलावा दूसरे लोगों ने भी मुझसे संपर्क किया था।
ठाकुर ने कहा कि चार सितंबर को ग्वालियर में मैंने कहा था कि सरकारें दो माह में एससी-एसटी एक्ट में फिर से संशोधन करें। यह मियाद पूरी हो रही है, लेकिन अफसोस है कि इस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।
देश में सात सौ से ज्यादा सांसद हैं। उन्होंने भी एससी-एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध नहीं किया। जब कोई हमारे आंसू पोंछने नहीं आया तो हमें मजबूरी में यह कदम उठाना पड़ा। ज्ञात हो कि यह पार्टी 2013 से प्रदेश में कार्यरत है।
ठाकुर ने कहा कि गुरुवार को प्रदेश का स्थापना दिवस है। किसी भी मुहिम की शुरूआत करने के लिए यह ठीक दिन है।
इसी दिन उज्जैन में महाकाल के दर्शन कर अपनी रणनीति उजागर करूंगा। ठाकुर ने कहा कि ये धरती वीर विहीन नहीं हुई है। क्या माता की रक्षा नहीं करनी चाहिए। मैंने ऐसा किया तो क्या गलत था।
उन्होंने कहा कि लोग संतों के राजनीति में आने पर सवाल उठाते हैं। जब-जब ऐसी स्थिति बनी है, तब साधु-संतों ने ही संभाला है। अब हम संभाल रहे हैं।
ठाकुर ने कहा कि कुछ और दल मिलकर चुनाव में उतरेंगे। उन्होंने दो बार स्वयं की गिरफ्तारी पर भी दुख व्यक्त किया।  
मीडिया के सामने ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की घोषणा हुई।
यह भी पढ़ें: राम मंदिर पर अध्यादेश लाये और अपना वादा पूरा करे सरकार: RSS
विजय शर्मा को यह दायित्व सौंपा गया है। सोमवीर सिंह को महासचिव, ग्वालियर के नीरज शर्मा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। विजय शर्मा ने कहा कि कथावाचक ठाकुर पार्टी के स्टार प्रचारक के रूप में रहेंगे।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More