पंजाब: बदमाशों ने गोली मारकर व्यापारी को उतारा मौत के घाट, इलाके में हड़कंप

154

आर जे न्यूज़-

पंजाब के जालंधर जिले में एक व्यापारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोपियों ने पांच गोली मारकर व्यापारी को मौत के घाट उतार दिया। वारदात जालंधर के प्रीत नगर के सोढ़ल रोड का है। आरोपी इतने बेखौफ थे कि वारदात के बाद छाती ठोककर कहा कि हमने बदला ले लिया। पुलिस ने दो हमलावरों की पहचान पुनीत व लल्ली के तौर पर की है।

घटनास्थल से मिली जानकारी के मुताबिक, करीब दो महीने पहले गुरमीत टिंकू हमला करने वालों के घर गया था। वहां इनकी आपस में बहस के बाद झगड़ा हुआ था। इसके बाद हमलावर उसके पीछे आए और फिर उनमें झगड़ा हुआ था। पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ क्रॉस केस दर्ज किया था। शनिवार को करीब 1.30 बजे चार हमलावर टिंकू की दुकान के अंदर आए और पांचवां साथी स्विफ्ट डिजायर गाड़ी में बैठा रहा।

हमलावरों ने अंदर घुसते ही फायरिंग शुरू कर दी। पहली गोली चलते ही गुरमीत टिंकू जान बचाने के लिए भागकर पहली मंजिल पर बने कमरे में छुप गया। हमलावरों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा और उसी कमरे में बंद कर ताबड़तोड़ पांच गोलियां मार दी। बदमाशों ने जब दुकान पर हमला किया तो उस वक्त वहां काम करने वाले कर्मचारी व कुछ ग्राहक भी थे लेकिन बदमाशों ने किसी दूसरे को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया। उनका टारगेट सिर्फ गुरमीत टिंकू था। उन्होंने अंदर घुसते ही रिंकू को टारगेट किया और फिर पीछा कर उसकी छाती में गोलियां दागने के बाद फरार हो गए।

डीसीपी गुरमीत सिंह का कहना है कि जनवरी में पुनीत व टिंकू के बीच झगड़ा हुआ था। टिंकू ने पुनीत के साथ मारपीट की थी, जिसके बाद कई बार राजनीमा की कोशिश हुई लेकिन पुनीत राजीनामा नहीं करना चाहता था और उसने धमकी दे रखी थी कि वह टिंकू को जान से मारकर ही दम लेगा। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि तीन हमलावरों के पास पिस्तौल थे, जिससे गोलियां चलाई गईं।

पुलिस ने टिंकू के पिता सुरिंदर सिंह के बयान लेकर पांच हमलावरों के खिलाफ हत्या का मामला दर्जकर लिया है। हमलावरों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने शुक्रवार को ही इस बात की खुशी मनाई थी कि ‘इज आफ लिविंग इंडैक्स 2020 ’ की एक मिलियन से कम आबादी वाली श्रेणी में देश के 62 शहरों में से जालंधर को 32वां सुरक्षित शहर चुना गया था। जालंधर शहर ने 52.18 अंक प्राप्त किए थे और पंजाब का अकेला शहर था, जो इस श्रेणी में आया था।

बिकरू कांड से जुड़ा बड़ा अपडेट्स

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More