यूपी में गरीब महिलाओं को मिलेगा स्वरोजगार,भाजपा का पश्चिमUP में मिशन-2024 पर फोकस

91

गरीब महिलाओं को स्वावलंबी बनाने पर राज्य सरकार विशेष जोर देगी। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली महिलाओं के हाथों को मजबूत बनाया जाएगा। आटा-मसाला चक्की योजना इन महिलाओं को खुद के पैरों पर खड़ा होने लायक बनाएगी। 18 मंडलीय मुख्यालयों में अभी 2250 महिलाओं को सरकारी मदद देकर स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा।

योजना का खाका तैयार कर लिया गया है। जल्द ही अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम अपनी इस योजना का शुभारंभ करेगी।प्रदेश में 18 मंडलीय मुख्यालयों में प्रत्येक जिले में 125 महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा। इस तरह कुल 2250 महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। आटा व मसाला चक्की की प्रत्येक इकाई की स्थापना के लिए हर महिला को 20 हजार रुपये की मदद दी जाएगी।

इसमें 10 हजार रुपये का अनुदान दिया जाएगा और बाकी राशि ब्याज मुक्त ऋण के रूप में विशेष केंद्रीय सहायता से दी जाएगी। फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर दो जिलों में 17 महिलाएं अब तक चयनित भी हो चुकी हैं। अब आगे दोबारा योगी सरकार के शपथ लेने के बाद इस योजना को और तेजी से लागू किया जाएगा।

पश्चिमी यूपी में अहम मोड़ पर ब्राह्मण राजनीति, भाजपा का मिशन-2024 पर फोकस
पश्चिम उप्र में जातीय समीकरण साधने पर नए सिरे से प्रयोग हो रहे हैं। भाजपा ने मिशन-2024 पर अमल करते हुए एमएलसी स्थानीय निकाय चुनाव में जातीय समीकरण को साधने पर फोकस किया है। पश्चिमी उप्र में लंबे समय बाद ब्राह्मण राजनीति मुख्यधारा की तरफ बढ़ती नजर आ रही है। पार्टी ने मेरठ-गाजियाबाद सीट पर जाट, गुर्जर या ओबीसी के बजाय ब्राह्मण चेहरा धर्मेंद्र भारद्वाज को प्रत्याशी बनाकर बड़ा संदेश दिया है।

सीएम योगी के मंत्रिमंडल में भी ब्राह्मणों को तवज्जो मिलने की प्रबल संभावना है 2022 विस चुनावों में जीत हासिल करने के बाद भगवा खेमे का मनोबल बढ़ा हुआ है। पार्टी ने 30 प्रत्याशियों की सूची जारी की है, जिसमें जातिगत समीकरण साधने पर पूरा होमवर्क किया गया है। मेरठ-गाजियाबाद स्थानीय निकाय पर भारद्वाज के रूप में पार्टी ने जहां ब्राह्मण कार्ड खेला,

वहीं बुलंदशहर में गुर्जर चेहरा नरेंद्र भाटी, मुजफ्फरनगर-सहारनपुर में जाट चेहरा वंदना मुदित वर्मा, मुरादाबाद-बिजनौर में सैनी कार्ड के रूप में सत्यपाल सैनी और रामपुर-बरेली में क्षत्रिय चेहरा कुंवर महराज सिंह को मैदान में उतारा है। पश्चिम की चार सीटों में गुर्जर, जाट, ब्राह्मण, क्षत्रिय और सैनी को साधा गया है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More