पीजीआई के निदेशक प्रो० आरके धीमान और उनकी पत्नी दोनों डोज़ लेने के बाद भी कोरोना पॉजिटिव

206

आर जे न्यूज़-

राजधानी में गुरुवार को अस्पतालों से लेकर स्कूल और डीआरएफ ऑफिस तक कोरोना की मार रही। जहां 13 फरवरी को टीके का दूसरा डोज लगवाने वाले पीजीआई के निदेशक प्रो. आरके धीमान और उनकी पत्नी संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। वहीं, डफरिन में दो डॉक्टर समेत दस लोग पॉजिटिव हो गया। चौंकाने वाली बात यह है कि इनमें से नौ लोग टीके के दोनों डोज ले चुके हैं। दूसरी ओर सीएमएस के एक शिक्षक में संक्रमण की पुष्टि के बाद स्कूल को सील कर दिया गया। जबकि डीआरएम ऑफिस में तैनात रेलवे के दो अफसर भी कोरोना की चपेट में आ गए।

बृहस्पतिवार को 237 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई जबकि एक मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अब सक्रिय मामलों की संख्या 1357 हो गई है। पीजीआई के निदेशक प्रो. आरके धीमान ने पहले चरण में ही 16 जनवरी को टीका लगवाया था। उनकी पत्नी की भी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। निदेशक धीमान ने खुद को होम क्वारंटीन कर लिया है। राजधानी में कोरोना का टीकाकरण कराने के बाद भी संक्रमित होने का यह तीसरा केस है। इससे पहले सिविल अस्पताल के चिकित्सक को भी दोनों डोज लेने के बाद संक्रमण हुआ था। पिछले 20 दिनों में 10 लोग कोरोना से जान गंवा चुके हैं। छह मार्च से औसतन हर दूसरे दिन एक मौत हो रही है।

बढ़ते खतरे को देखते हुए केजीएमयू, पीजीआई व लोहिया संस्थान में डॉक्टरों व अन्य स्टाफ  की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। सीएमओ कार्यालय के प्रवक्ता योगेश रघुवंशी ने बताया कि बृहस्पतिवार को सर्विलांस एवं कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग टीमों ने 10,810 लोगों के सैंपल लिए। इनमें से अधिकांश वे लोग थे जो संक्रमितों के सीधे संपर्क में आए थे। 56 रोगियों को हॉस्पिटल भेजने के लिए एंबुलेंस का आवंटन किया गया। शाम तक 18 मरीजों को भर्ती करा दिया गया जबकि 38 रोगियों ने होम आइसोलेशन चुना |

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More