अब लखनऊ सिटी में भी चलेगी बाइक टैक्सी

0 152
गोरखपुर, । वाराणसी, लखनऊ और फैजाबाद आदि शहरों की तरह अब गोरखपुर में भी लोग किराए की बाइक की सवारी कर सकेंगे। जाम में आटो और कार लेकर चलने की मजबूरी समाप्त हो जाएगी।
संभागीय परिवहन प्राधिकरण कामर्शियल उपयोग के लिए बाइक टैक्सी के रूप में मोटरसाइकिल का भी परमिट जारी करेगा।
राज्य परिवहन प्राधिकरण के दिशा-निर्देश पर गोरखपुर संभागीय परिवहन प्राधिकरण ने भी बाइक टैक्सी को परमिट जारी करने की तैयारी शुरू कर दी है।
दरअसल, प्रदेश के अन्य शहरों में लोगों को बाइक टैक्सी की सुविधा मिलनी शुरू हो गई है।
राज्य परिवहन प्राधिकरण के निर्देश पर स्थानीय परिवहन प्राधिकरण ने मोटरसाइकिलों को भी कामर्शियल परमिट जारी करना शुरू कर दिया है।
कई संस्थाएं प्राधिकरण की इस सुविधा का लाभ भी उठाने लगी हैं। अब यह सुविधा गोरखपुर में भी मिलेगी।
दरअसल, स्थानीय ही नहीं बाहर से आने वाले लोग भी महानगर में चलने को लेकर परेशान रहते हैं। कम समय में छोट से कार्य को निपटाने के लिए भी लोगों को रिक्शा, आटो या कार की सहायता लेनी पड़ती है।
अधिक समय लगने के साथ जेब भी ढीली होती है। ऊपर से जाम भी लगता है
ऐसे में लोगों को सहूलियत प्रदान करने के लिए परिवहन प्राधिकरण ने शहरों में बाइक टैक्सी चलाने का अहम निर्णय लिया है।
वाहन का बीमा होगा, जिसमें पीछे बैठने वाला यात्री भी शामिल होगा।
चालक और यात्री दोनों को हेलमेट लगाना अनिवार्य होगा।
बाइक टैक्सी में शिकायत पुस्तिका भी रखी जाएगी। वाहन में फस्र्ट एड बाक्स भी अनिवार्य होगा।
वाहन पर चालक का नाम सहित पूरा पता अंकित होगा। वाहन को किराए पर मांग अस्वीकार नहीं की जाएगी।
परमिट लेने के बाद कोई भी व्यक्ति या संस्था अपनी मोटरसाइकिल का कामर्शियल उपयोग कर सकता है।
उपयोग करने वाले व्यक्ति ट्रेवेल एजेंटों या वाहन उपलब्ध करने वाली निजी संस्थाओं से संपर्क कर मोटरसाइकिल की बुकिंग कर सकते हैं।
यह भी पढ़ें: तेजस्वी के साथ कुख्यात अपराधी की सेल्फी वायरल, जदयू ने साधा निशाना
संभागीय परिवहन प्राधिकरण के सचिव भीम सेन सिंह ने कहा कि दो नवंबर को आयोजित होने वाली संभागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक में चर्चा कर बाइक टैक्सी के परमिट पर मुहर लगा दी जाएगी। इसको लेकर तैयारी चल रही है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More