निर्मला सीतारमण का तर्क- डॉलर के मुकाबले रुपया नहीं है कमजोर

108

 राष्ट्रीय जजमेंट न्यूज़

संवाददाता

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का एक बयान सामने आया है. वित्त मंत्री ने बताया है कि उन्होंने बताया कि भारतीय रुपया गिर नहीं रहा है, बल्कि डॉलर मजबूत हो रहा है. बाकी देशों की करेंसी के मुकाबले भारत रुपया बेहतर प्रदर्शन कर रहा है. इससे निपटने के लिए उपाय किए जा रहे हैं.
अमेरिका दौरे पर पहुंचीं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पहले तो मैं ये कहना चाहूंगी कि रुपया नहीं गिर रहा, बल्कि डॉलर मजबूत हुआ है. भारतीय रुपये का प्रदर्शन अच्छा है. भारतीय रुपये में ज्यादा अस्थिरता देखने को नहीं मिली है.

सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक वित्त समिति (आईएमएफसी) को शुक्रवार को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 23 सितंबर 2022 तक 537.5 अरब डॉलर था जो अन्य समकक्ष अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में बेहतर है. अमेरिकी डॉलर के मजबूत होने से मूल्यांकन में आए बदलाव ने इस भंडार में आई गिरावट में दो-तिहाई योगदान दिया है.”

उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में विदेशी मुद्रा भंडार में 4.6 अरब डॉलर का भुगतान संतुलन (बीओपी) आधार पर संचयन हुआ है. अन्य बाहरी संकेतकों में शुद्ध अंतरराष्ट्रीय निवेश स्थिति और लघु अवधि का कर्ज भी कम संवेदनशीलता के सूचक हैं. उन्होंने कहा कि इस स्थिति के बावजूद भारत का बाहरी कर्ज और जीडीपी का अनुपात प्रमुख उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं में सबसे कम है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की एक रिपोर्ट के अनुसार 30 सितंबर तक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 4.854 अरब डॉलर की गिरावट के साथ 532.664 अरब डॉलर था. इस रिपोर्ट के मुताबिक कुल भंडार में प्रमुख हिस्सेदारी रखने वाले विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (एफसीए) में कमी आना ही 30 सितंबर को खत्म् हुए हफ्ते के दौरान भंडार में आई गिरावट की वजह है.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More