छिन गया बच्चों के सिर से मां का आंचल

0 422
देवरिया जनपद के तहसील क्षेत्र बरहज के गौरा निवासी एवं प्राथमिक विद्यालय गौरा नंबर दो पर समायोजित शिक्षामित्र संगीता यादव की आकस्मिक मृत्यु से पूरे विद्यालय परिवार एवं गांव में शोक की लहर दौड़ गई।
परिजनों के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थेे। गीता यादव अपने पीछे एक 10 साल का छोटा बेटा एक 11 साल की छोटी बेटी छोड़ गयीं।
बताते चलें कि श्रीमती यादव बड़ी ही मृदुभाषी स्वभाव की एवं धार्मिक महिला थी उनकी मृत्यु की सूचना पाते ही उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ बरहज नगर के अध्यक्ष जय नारायण त्रिपाठी प्रिंस
अपने संगठन के सभी पदाधिकारियों सहित उनके गांव पहुंच दुख एवं शोक संवेदना व्यक्त किया नगर अध्यक्ष श्री त्रिपाठी ने कहा कि
इस दुख की घड़ी में शिक्षक संघ परिवार के हर दुख हर सुख में साथ खड़ा है श्री अध्यक्ष ने नगर क्षेत्र के सभी विद्यालयों को शोक संवेदना व्यक्त करने के बाद
विद्यालयों को बंद करने का आवाहन किया शोक सभा एवं दरवाजे पर पहुंचे पदाधिकारियों में ग्रामीण के अध्यक्ष सुशील यादव, रत्नेश मणि तिवारी,
आशुतोष शर्मा, प्रसनजीत सिंह, राम सेवक शर्मा, कुंदन तिवारी, योगेश सिंह, योगेश्वर चौहान, सुधीर तिवारी,
मनोज पांडे, मोहन लाल विश्वकर्मा, प्रमोद मिश्र, राकेश श्रीवास्तव, वीरेंद्र विक्रम सिंह, देवी शरण सोनकर, बृजेश सोनकर आदि लोग उपस्थित थे।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More