सोना-चाँदी की कीमतों में आई गिरावट, जाने वैश्विक बाजारों में कितनी है कीमत

45

आर जे न्यूज़

घरेलू बाजार में सोने और चांदी की वायदा कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.08 फीसदी गिरकर 48,953 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। जबकि चांदी वायदा 0.3 फीसदी गिरकर 71,308 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। पिछले सप्ताह पीली धातु 49,800 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्च स्तर पर पहुंच गया था। इसके बाद से ही कीमतों में उतार-चढ़ाव जारी है। पीली धातु पिछले साल के उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से करीब सात हजार रुपये नीचे है। मार्च में सोने की कीमतें लगभग 44,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के निचले स्तर पर पहुंच गई थीं।

वैश्विक बाजार में इतनी है कीमत
अंतरराष्ट्रीय बाजारों में मजबूत डॉलर के चलते हाजिर सोने में गिरावट आई। हाजिर सोना 0.2 फीसदी गिरकर 1,886.76 डॉलर प्रति औंस पर रहा। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.7 फीसदी गिरकर 27.58 डॉलर प्रति औंस पर थी और प्लैटिनम 0.2 फीसदी बढ़कर 1,164.72 डॉलर पर रहा। डॉलर इंडेक्स तीन सप्ताह के उच्च स्तर पर, 90.543 पर पहुंच गया। डॉलर इंडेक्स अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले 0.03 फीसदी बढ़कर 90.157 हो गया।

सरकार ने 15 जून तक दी गोल्ड ज्वैलरी की हॉलमार्किंग में छूट
केंद्र ने स्वर्ण आभूषण और कलाकृतियों के लिए अनिवार्य रूप से हॉलमार्किंग व्यवस्था लागू करने की समयसीमा एक पखवाड़ा बढ़ाकर 15 जून तक कर दी। उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया। उल्लेखनीय है कि नवंबर 2019 में सरकार ने स्वर्ण आभूषण और कलाकृतियों पर ‘हॉलमार्किंग’ 15 जनवरी, 2021 से अनिवार्य किए जाने की घोषणा की थी।

हालांकि जौहरियों की महामारी के कारण समयसीमा बढ़ाए जाने की मांग के बाद इसे चार महीने आगे खिसकाकर एक जून कर दिया गया था। गोल्ड हॉलमार्किंग कीमती धातु की शुद्धता को प्रमाणित करता है और वर्तमान में यह स्वैच्छिक है। बयान के अनुसार स्वर्ण आभूषण पर हॉलमार्किंग व्यवस्था 15 जून से शुरू होगी। पहले यह एक जून, 2021 से क्रियान्वित होनी थी।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More