विशेष अभियान चलाकर शिविर के माध्यम से पात्रों का निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा,छह लाख पात्रों के आज से बनेंगे आयुष्मान कार्ड

134

अंबेडकरनगर। शासन के निर्देश पर 10 से 24 मार्च तक विशेष अभियान चलाकर शिविर के माध्यम से पात्रों का निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। अभियान के दौरान 6 लाख 37 हजार 155 पात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए पहली बार आशा बहुओं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है।आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ लेने के लिए आयुष्मान कार्ड बनवाने में पात्रों को अब इधर-उधर की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

शासन के निर्देश पर 10 से 24 मार्च तक विशेष अभियान चलाकर शिविर के माध्यम से पात्रों का निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। अभियान के दौरान 6 लाख 37 हजार 155 पात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए पहली बार आशा बहुओं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्हें एक कार्ड बनवाने के 5 रुपये भी दिए जाएंगे, जबकि एक ही परिवार के एक से अधिक कार्ड बनाने पर 10 रुपये दिए जाएंगे। इतना ही नहीं, अब जनसेवा केंद्र पर पात्र निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनवा सकेंगे। पूर्व में केंद्र पर कार्ड बनवाने पर 30 रुपये का भुगतान करना पड़ता था।

केंद्र सरकार की अति महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का अधिक से अधिक लाभ लोगों को मिल सके, इसके लिए बीते 15 दिसंबर से 15 जनवरी तक विशेष अभियान चलाकर पात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाया गया था। यह अलग बात है कि तमाम कोशिशें के बावजूद आयुष्मान कार्ड बनना गति नहीं पकड़ सका।

अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जिले में 8 लाख 24 हजार 345 पात्रों का कार्ड बनने का लक्ष्य है। अलग-अलग चरणों में चले अभियान में मात्र 1 लाख 87 हजार 190 लोगों का ही आयुष्मान कार्ड बन सका था। इसे देखते हुए अब शासन ने 10 से 24 मार्च तक विशेष आयुष्मान कार्ड पखवाड़ा चलाए जाने का निर्देश दिया था।

योजना के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. मुकुल त्रिपाठी ने बताया कि विशेष पखवाड़े में जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जगह-जगह शिविरों का आयोजन होगा। इसके माध्यम से पात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा,आशा बहुओं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को मिलेगी प्रोत्साहन राशि,शत-प्रतिशत पात्रों का आयुष्मान कार्ड बन सके, इसके लिए पहली बार आशा बहुओं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

डॉ. मुकुल त्रिपाठी ने बताया कि जिस गांव में शिविर लगेगा, वहां की आशा बहू व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को विशेष प्रकार की पर्ची दी जाएगी। इस पर्ची पर पात्र परिवार के मुखिया का नाम होगा। शिविर के एक दिन पहले आशा बहू व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पर्ची को संबंधित पात्रों को सौंप देंगी। बताया कि एक आयुष्मान कार्ड बनवाने पर संबंधित आशा बहू व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 5 रुपये, जबकि एक ही परिवार के दो से अधिक का कार्ड बनवाने पर 10 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
जनसेवा केंद्र पर निशुल्क बनेगा कार्ड

डॉ. मुकुल त्रिपाठी ने बताया कि शासन के दिशा निर्देशानुसार अब जनसेवा केंद्र पर पात्र निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनवा सकेंगे। पूर्व में जनसेवा केंद्र पर एक कार्ड बनवाने के लिए पात्रों को 30 रुपये का भुगतान करना पड़ता था। नई योजना के तहत शुल्क समाप्त कर दिया गया है। अब एक कार्ड बनाने पर जनसेवा केंद्र को शासन से 13 रुपये 70 पैसे उनके खाते में भेजे जांएगे।

बताया कि इस संबंध में सभी जनसेवा केंद्रों को जरूरी दिशा निर्देश दे दिए गए हैं। आज से चलेगा अभियान योजना के तहत 6 लाख 37 हजार 155 पात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए 10 से 24 मार्च तक विशेष अभियान चलेगा। पात्रों को योजना का अधिक से अधिक लाभ मिल सके, इसके लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

– डॉ. आशुतोष सिंह, नोडल अधिकारी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

दिनेश कुमार संवाददाता राष्ट्रीय जजमेंट अंबेडकरनगर

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More