आरएसएस, भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हुई जमकर भिड़ंत, पुलिसवालों पर जमकर बरसीं चप्पलें

195

मथुरा के वृंदावन में सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से कुंभ बैठक का सफल आयोजन हुआ, लेकिन समापन के बाद शनिवार को बवाल हो गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं और पुलिस की भिड़ंत हो गई। कभी पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटा तो कभी पुलिसवालों की पिटाई कर दी गई। पूरे दिन हंगामा होता रहा। इसका खामियाजा पुलिस को ही भुगतना पड़ा। कोतवाल लाइन हाजिर कर दिए गए। चौकी इंचार्ज और एक सिपाही को निलंबित कर दिया गया। मामले में पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

विवाद के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के धरना-प्रदर्शन को पुलिस ने हल्के में लिया। उसका परिणाम यह हुआ कि पुलिसकर्मियों को संघ और भाजपा के कार्यकर्ताओं ने सरेआम पीट दिया। गुस्साए पुलिसवालों ने जिला संयुक्त अस्पताल में मेडिकल कराने गए भाजपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर दिया। इसमें भाजपा कार्यकर्ता मनीष गौतम लहूलुहान हो गए। दो अन्य कार्यकर्ताओं के अंदरूनी चोट आई हैं।

अस्पताल में विवाद के दौरान भाजपा की महिला नेता ने कोतवाली प्रभारी अनुज कुमार को चप्पल मार दी। कोतवाली प्रभारी से अभद्रता की खबर पाकर एक बार फिर पुलिसकर्मियों ने लाठियां बरसाईं। भाजपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज की खबर मिलते ही पूरे जिले के भाजपा कार्यकर्ताओं का हुजूम संयुक्त अस्पताल में जुट गया। विधायक, प्रदेश पदाधिकारी, ब्रज क्षेत्र और जिला स्तर के नेता, कार्यकर्ता अस्पताल में एकत्रित हो गए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर धरने पर बैठ गए।

शनिवार देर रात डीएम व एसएसपी फिर दोबारा 100 शैया अस्पताल पहुंचे। आक्रोशित जनप्रतिनिधियों और भाजपा के पदाधिकारियों से बात की। उन्होंने दोषियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई और कोतवाल अनुज कुमार को लाइन हाजिर कर दिया। साथ ही चौकी इंचार्ज व सिपाही समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। चौकी इंचार्ज व सिपाही भी सस्पेंड किए गए। होमगार्ड के खिलाफ कार्रवाई को होमगार्ड कमांडेंट को पत्र लिखा गया।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More