राजस्थान के सुप्रसिद्ध खाटूश्याम बाबा का मेले में रंग गुलाल खेलते हुए भक्त पंहुच रहे हैं श्याम के दरबार।

115

आर जे न्यूज़-

सीकर। सुरेश कुमावत। खाटूश्याम जी कस्बे के विश्व प्रसिद्ध बाबा श्याम के 10 दिवसीय वार्षिक लकी मेले का आज छटवां दिन । मेले में रंग गुलाल खेलते हुए भक्त पंहुच रहे हैं श्याम के दरबार।आयोजन आस्था और श्रद्धा का उमड़ रहा है ज्वार, श्यामभक्तों के जत्थे आ रहे है बाबा के दरबार, कोविड जांच रिपोर्ट नेगेटिव वालों को दिया जा रहा है प्रवेश, जगह जगह पुलिस बल है तैनात है, श्याम श्रद्धालुओं की कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट जांच का मुख्य केंद्र रींगस मोड़ पर बनाया गया है अन्य मार्गों पर भी रिपोर्ट चेक करने के लिए सेंटर बनाए गए हैं , वहां पर जांच होने के बाद ही श्याम श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए भेजा जाएगा।

बाबा श्याम के लक्खी फाल्गुन महोत्सव में श्याम बाबा के दीवानें श्याम दर्शनों की ललक के साथ खाटूनगरी पहुंच रहे है। सोमवार अष्टमी को बाबा के दरबार मे हजारों श्याम भक्तों ने शीश के दानी के दर्शन कर खुशहाली की कामना की। रींगस से खाटू मार्ग पर नाचते गाते बाबा श्याम के दीवाने श्याम के रंग मे रंग रहे है। वही रींगस से खाटूधाम के बीच लगे विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के चिकित्सा शिविरों के साथ पेय पदार्थ, बिस्कुट इत्यादि से भक्तों की मनुहार हो रही है। श्याम भक्त जैसे ही पैदल आ रहे है उनके आराम के लिए अत्याधुनिक एक्यूप्रेशर मशीनें, मालिस इत्यादि की शानदार व्यवस्था कर रखी है।

इसके साथ बच्चे, महिलाएं, युवा, पेय पदार्थ पिलाकर श्याम भक्तों की सेवा मे कोई कसर नही छोड़ रहे है। रींगस से खाटू आने के बाद दर्शन मार्ग से श्याम भक्त दर्शनों की कतार मे लग रहे है और मंदिर के सामने पहुंचते ही श्याम बाबा की जय के जयकारों के साथ बाबा को प्रसाद अर्पित कर दर्शन कर रहे। विश्व विख्यात खाटूनगरी मे चल रहे श्याम बाबा का प्रतिदिन अलौकिक श्रृंगार किया जा रहा है। आने वाले श्याम श्रद्धालु बाबा श्याम की मोहनी मूरत का दीदार कर धन्य हो रहे है।

दस दिवसीय मेलें मे बाबा श्याम के सजावट के लिये बैंगलोर, दिल्ली से रोजाना फूल आ रहे है।जिसमें गुलाब, मोगरा, गेंदा, चमेली इत्यादि पुष्पों से बाबा श्याम का श्रंगार हो रहा है। श्री श्याम मंदिर कमेटी परिसर में बंगाली कारीगर नित प्रतिदिन पुष्पों के हार बनाने के लिए लगे हुए है। जिसे देखते ही श्याम भक्तों के मन से एक ही बात निकलती है कि किसने सजाया आपको सांवले सरकार और थै बण्या दुज का चांद बाबा नजर कदै ना लाग जैसे भजनों के साथ बाबा श्याम के दीदार कर रहे है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More