जिला अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत, परिजनों ने किया हंगामा, तोड़ फोड़

28

आर जे न्यूज़-

बांदा। शहर के केवटरा मुक्तिधाम निवासी अमर निषाद (24) पुत्र नवल किशोर को शाम को पेट सीने में दर्द उठा। परिजनों ने पहले उसका घरेलू उपचार किया, लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ। परिवार के लोग उन्हें लेकर जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर पहुंचे। परिजनों का आरोप है कि वहां पर कोई डाक्टर नहीं था। काफी पता किया गया, लेकिन डाक्टर का कहीं कुछ पता नहीं था। मरीज की हालत के बीच डाक्टर के न होने पर लोगों का गुस्सा भड़क गया।

डाक्टर के न मिलने का आरोप:-

बताया जा रहा है कि परिजनों और साथ आए अन्य लोगों ने ट्रामा सेंटर के पर्चा काउंटर में तैनात आदाब नामक कर्मचारी को पीट दिया। परिजनों और मुहल्लेवासियों का उग्र रूप देखकर अस्पताल के चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मचारी मौके से भाग निकले। खबर पाकर मौके पर पहुंचे सीओ सिटी और कोतवाली प्रभारी ने स्थिति को संभाला।

डाक्टर ने कही यह बात:-

फिर मृतक के परिवार के लोग मुहल्ले वालों के साथ पुलिस अधीक्षक आवास के सामने धरने पर बैठ गए। हालांकि, पुलिस ने उनको समझाकर हटा दिया।
उधर, डा. बीके गुप्ता का कहना है कि युवक को गैसपिन कंडीशन में अस्पताल लाया गया था। ऐसा लग रहा है कि युवक की हार्ट अटैक से मौत हुई है। चिकित्सक का कहना है कि वह अस्पताल में ही थे। कोतवाली प्रभारी जयश्याम शुक्ला ने कहा कि तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

राष्ट्रीय जजमेंट संवादाता बांदा

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More