स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा पर 3.5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने के आरोप

0 133
जयपुर,। स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा पर 3.5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने के आरोप लगे हैं। हालांकि कांग्रेस ने इन आरोपों को निराधार बताया है।

 

कुमारी शैलजा पर लगे इन आरोपों पर केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने गाना गुनगुनाया “नाम बड़े हैं और काम है खोटे, टिकट के लिए ये रुपये लेते हैं मोटे”। शेखावत ने कुमारी शैलजा के खिलाफ पोस्टर लगाने वालों को धन्यवाद दिया है।
दरअसल, दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय के टॉयलेट और जयपुर में एक स्थान पर चस्पा मिले एक पोस्टर में शैलजा पर फलौदी विधानसभा क्षेत्र से टिकट को 3.5 करोड़ में बेचने का आरोप लगाया गया है।
इस पोस्टर में शैलजा के साथ एक अन्य महिला का फोटो भी छपा है। पोस्टर के अनुसार, इस सीट पर पूर्व संसदीय सचिव विजयलक्ष्मी विश्नोई को 3.5 करोड़ में कांग्रेस का टिकट बेचा गया है।
यह पोस्टर सोमवार रात सोशल मीडिया पर वायरल भी हुअा। हालांकि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने जयपुर में इस तरह के आरोपों को गलत बताया है।
उन्होंने कहा कि पूरी पारदर्शिता के साथ काम हो रहा है। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने भी इस तरह के आरोपों को निराधार बताया है।
शैलजा पर लगे आरोपों पर चुटकी लेते हुए केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने जयपुर में मीडियाकर्मियों से बातचीत में एक फिल्म का गाना गुनगुनाया “नाम बड़े हैं और काम है खोटे, टिकट के लिए ये लोग रुपये लेते हैं मोटे”।
उन्होंने शैलजा के खिलाफ पोस्टर लगाने वालों को धन्यवाद देते हुए कहा कि यह कांग्रेस की संस्कृति है। शेखावत ने कांग्रेस नेताओं पर मोटी रकम लेकर टिकट तय करने के आरोप लगाते हुए कहा कि
उनके पास इसके प्रमाण हैं। उन्होंने कहा कि पहले नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से नेताओं ने पैसे लिए और उन रुपयों को बाद में बड़े नेताओं को दिए गए।
यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने राजस्थान में चार राष्ट्रीय सचिवों को टिकट वितरण से हटाया
शेखावत ने कहा कि उनके पास 10 एफिडेविट स्टांप पर इसके प्रमाण हैं, जिससे कांग्रेस का चरित्र साफ नजर आ रहा है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More