एटा: दीपावली आते ही मिलावट के काले कारोबार ने पकड़ा जोर

0 200
एटा,। मिलावट के काले कारोबार से गांव भी अछूते नहीं हैं। अधिक मुनाफे के लिए इन दिनों तमाम गांवों में भट्ठियां धधक रही हैं। जहां खासतौर से मिलावटी खोवा तैयार किया जा रहा है।
दूध में मिलावट और नकली दूध बनाने के फार्मूले गांव-गांव पहुंच चुके हैं। यहां तक कि कुछ स्थानों पर मिलावटी छेना भी तैयार कर बाजारों में खपाया जा रहा है।
मिलावट के लिए शहर के बाजार तो काफी पहले से ही बदनाम हैं। लोगों को गांवों में ही ईमानदारी और खाद्य पदार्थों में शुद्धता की उम्मीद रहती है। लेकिन अब यह सोच भी भ्रम साबित होती जा रही है।
लालच के चलते गांवों में भी मिलावट का जहर घुल रहा है। यूं तो आमतौर पर दूध में मिलावट का कारोबार कई स्थानों पर लगातार चलता ही रहता है,
लेकिन भारी मांग वाले दीपोत्सव के समय पखवाड़े भर तक कई गांवों में रात-दिन भट्ठियां धधकती हैं। इन दिनों दीपावली को लेकर काम जोरों पर चल रहा है।
जहां मिलावटी और सिंथेटिक खोवा तथा मिलावटी छेना बड़ी मात्रा में तैयार किया जा रहा है। यहां से गाड़ियों में भरकर यह शहर के बाजार और
मांग के अनुरूप पड़ोसी जिलों तक भेजा जा रहा है। इस कारोबार में मिरहची, पिलुआ, रिजोर,
यह भी पढ़ें: दुकान में तेज धमाके से दीवाल टूटी, दर्जी बुरी तरह जख्मी
सकीट, मलावन, करतला, मारहरा, बागवाला आदि क्षेत्र व इनसे लगे गांव प्रमुख हैं।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More