जल्द आ जाएगी भाजपा की दूसरी लिस्ट, इन दिग्गज नेताओं को मिल सकता है टिकट

65

भाजपा की दूसरे और तीसरे चरण के लिए लिस्ट तैयार है। भाजपा हाईकमान ने पार्टी कार्यकर्ताओं और युवा चेहरों पर बड़ा दांव खेला है। राजधानी लखनऊ की तकरीबन सभी सीटें फाइनल हो चुकी हैं। लखनऊ के तीन मंत्रियों में से दो को पार्टी दोबारा मौका दे सकती है। वहीं, लखनऊ की सरोजनी नगर की सीट पर घोषित होने वाली प्रत्याशी का नाम आपको चौंका भी सकता है। इससे पहले भाजपा 172 नामों की सूची जारी कर चुकी है।

आइए आपको भाजपा की जारी होने वाली लिस्ट के बारे में बताते हैं…

सीटप्रत्याशी
कन्नौजअसीम अरुण
लखनऊ सरोजनीनगरदयाशंकर सिंह
लखनऊ पूर्वीगोपाल टंडन
लखनऊ मध्यबृजेश पाठक
महाराजपुर कानपुरसतीश महाना
छिबरामऊअर्चना पांडेय
चरखारीबृजभूषण राजपूत
अलीगढ़मुक्ता राजा
झांसी सदररवि शर्मा
राठ, हमीरपुर (महिला विधायक)मनीषा अनुरागी
अकबरपुर रनियाप्रतिभा शुक्ला
मउरानीपुरप्रागीलाल अहरिवार
गरौठाजवाहरलाल राजपूत
सिरसागंजहरीओम यादव
कासगंजदेवेंद्र सिंह लोधी
हाथरसअंजुला माहौर
मैनपुरीठाकुर जयवीर सिंह
अलीगंजसत्यपाल सिंह राठौर
करहलसंजीव यादव
जलेसरसंजीव कुमार
एटाविपिन वर्मा
मैनपुरी किसनीप्रियरंजन दिवाकर
महोबाराकेश गोस्वामी
घाटमपुरउपेंद्र पासवान
भोजपुरनागेंद्र सिंह
हमीरपुरबाबू राम निषाद
अमृतपुरसुशील शाक्य
इटावा सदरसरिता भदौरिया
बबीनाराजीव परीक्षा
फिरोजाबादमनीष असीजा
आर्यनगरसुरेश अवस्थी
कल्याणपुरनिलिमा कटियार
बिठूरअभिजीत सांगा
छावनीरघुनंदन सिंह भदौरिया
महाराजपुरसतीश महाना
कालपीसंतराम सेंगर
सीसामऊसलिल विश्नोई
छिबरामऊअर्चना पांडेय
फर्रूखाबादमेजर सुनील दत्त
बिल्हौरराहुल बच्चा सोनकर
भोजपुरनागेंद्र सिंह राठौर
तिर्वाकैलाश राजपूत
दिबियापुरलाखन सिंह राजपूत
भोगांवराम नरेश
भरथनाडॉ. सिद्धार्थ शंकर
रसूलाबादपूनम शंखवार
इटावा सदरसरिता भदौरिया

 

मिली जानकारी के मुताबिक लखनऊ की सरोजनी नगर विधानसभा सीट पर मंत्री स्वाति सिंह और उनके पति दयाशंकर सिंह दोनों दावेदार हैं। पार्टी हाईकमान दयाशंकर सिंह पर सरोजनी नगर सीट के लिए भरोसा जता सकती है।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह इस सीट से विधायक हैं। योगी सरकार में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार हैं। 2017 में मायावती पर अपमानजनक टिप्पणी करने की वजह से दयाशंकर को पार्टी से निकाला गया था। इसके बाद उनकी पत्नी को सरोजनीनगर से उम्मीदवार बनाया गया था।

पूर्व IPS असीम अरुण चार दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। असीम अरुण ने 8 जनवरी को अचानक VRS के लिए आवेदन करके राजनीति में जाने का फैसला किया था। प्रदेश सरकार ने उनका VRS 15 जनवरी से स्वीकार कर लिया था। भाजपा कन्नौज सदर से उन्हें चुनाव में उतार सकती है।

यह सीट सपा का मजबूत गढ़ रही है। कन्नौज सदर सीट पर पिछले 20 वर्षों से सपा के प्रत्याशी ही जीतते आए हैं। तीन बार से अनिल दोहरे साइकिल सिंबल पर जीत रहे हैं। 2017 में मोदी मैजिक के दौरान भाजपा ने इस सीट को लेकर जबरदस्त घेराबंदी की थी, लेकिन सपा का किला ढहा नहीं पाई थी। इस बार पार्टी ने असीम अरुण पर दांव लगाया है। इसके पीछे संघ की भूमिका बताई जा रही है।​

​​​​लखनऊ कैंट सीट पर युवा अभिजात को मौका

लखनऊ की सबसे हॉट विधानसभा सीट बन चुकी कैंट से पार्टी सारे विवादों को विराम देकर युवा नेता अभिजात मिश्रा को मौका दे सकती है। वह भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री रहे हैं। साथ ही ब्राह्मण युवा चेहरा हैं। हालांकि, इस सीट पर पार्टी के कई बड़े नेताओं और मंत्रियों की नजर है। चर्चा अभिजात मिश्रा को बीकेटी से खड़ा करने की भी थी। लिस्ट सामने आने के बाद पूरी तस्वीर स्पष्ट हो सकेगी।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More