नई कबाड़ नीति के अनुसार,अब निजी वाहन को चला सकेंगे 20 साल तक

276

नई वाहन कबाड़ नीति के मुताबिक 15 साल पुराने वाणिज्यिक वाहनों को स्क्रैप किया जाएगा यानी उन्हें सड़कों पर चलाने की अनुमति नहीं होगी। जबकि निजी वाहन के इस अवधि को 20 वर्ष तय किया गया है। यानी अब पुराने वाहनों को 20 साल बाद स्क्रैप किया जा सकेगा। इससे पहले 15 साल पुराने निजी वाहनों को सड़कों से हटा दिया जाता था।

पुरानी गाड़ियां बहुत प्रदूषण फैलाती हैं। बढ़ते वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने की दिशा में सरकार ने यह कदम उठाया है। इससे ईंधन-दक्ष, पर्यावरण अनुकून वाहनों को प्रोत्साहित करने, प्रदूषण को कम करने और तेल आयात बिल को कम करने में मदद मिलेगी।

ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर बनाए जाएंगे जहां इन वाहनों को ले जाना होगा। निजी वाहनों को 20 साल बाद और कमर्शियल वाहनों को 15 साल बाद इन ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर पर ले जाना होगा। इस योजना का पूरा ब्यौरा मंत्रालय द्वारा अलग से जारी किया जाएगा।

सरकार पिछले कुछ दिनों से वाहन कबाड़ नीति पर काम कर रही थी। कुछ दिनों पहले ही सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने नई वाहन कबाड़ नीति को मंजूरी दी है। साथ ही पुराने वाहनों को कबाड़ में देने के बदले नए वाहन खरीदने के लिए सरकार प्रोत्साहन राशि भी देगी।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More