सीतापुर में छेड़छाड़ से तंग छात्रा ने लगाई फांसी दी जान

162

आर जे न्यूज़-

सीतापुर | सूत्रों के अनुसार सीतापुर के थाना इमलिया सुल्तानपुर के एक गांव शोहदे से परेशान होकर किशोरी छात्रा ने शनिवार भोर घर में ही फंदे से लटक कर अपनी जान दे दी है। मृतक अर्पिता उर्फ कोमल कक्षा नौ की छात्रा है। बताया जा रहा है कि किशोरी को सीतापुर में प्रिया डे पब्लिक स्कूल आते-जाते रास्ते में गांव का युवक छोटू परेशान करता था। इसी क्रम में 17 मार्च को वह अपनी मां के साथ स्कूटी से स्कूल से लौट रही थी। की काजी कमालपुर में स्कूटी खड़ी कर मां उषा देवी किसी कार्य से सीएचसी गई थी।

इसी बीच गांव का युवक मौके पर आ धमका और किशोरी छात्रा से छेड़छाड़ करने लगा। छात्रा इसी मामले से काफी परेशान थी। हालांकि आशा बहू की माने इस मामले की शिकायत थाने पर की थी लेकिन, पुलिस की तरफ से कार्रवाई शून्य रही। जिसका नतीजा यह रहा कि छात्रा ने खुदकुशी कर ली है।15 वर्षीय छात्रा सीतापुर शहर में पढ़ने के लिए अधिकांशत:‌ अपनी मां के साथ स्कूटी से आती जाती थी।

बनाया जा रहा था समझौते का दबाव:-

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले हुई छेड़खानी की घटना के सम्बंध में पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की थी। पुलिस ने लड़के से पूछताछ भी की। बाद में पीड़ित परिवार पर सुलह-समझौते का दबाव बनाया जाने लगा। इमलिया सुल्तानपुर थानाध्यक्ष संत कुमार सिंह पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि मृतक छात्रा की मां ने गांव के छोटू नाम के युवक जिम्मेदार ठहराते हुए तहरीर दी है।

जिसके आधार पर आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। थानाध्यक्ष ने अभी दावा किया है कि मृतक छात्रा की मां ने सिर्फ छोटू पर ही छेड़खानी करने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी कहा है कि इससे पहले मृतक छात्रा की मां या किसी अन्य तरीके से घटना की जानकारी थाने पर नहीं दी गई थी।

मौके पर एएसपी उत्तरी डॉ राजीव दीक्षित ने बताया की मामले को संज्ञान में लेकर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की गई हैं जिसमें सीओ सदर व थानाध्यक्ष सहित मौके पर भारी फोर्स तैनात कर दी ग ई है जिसमें आरोपी छोटू को पकड़ लिया गया है जिसमें आगे इस मामले में तह तक जाकर आगे कार्रवाई की जाए।

राष्ट्रीय जजमेंट वरिष्ठ संवाददाता ओपी शुक्ला सीतापुर

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More