America is also going to ban Chinese mobile app Tick Talk
अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो चीनी मोबाइल ऐप टिक टॉक पर बैन लगाने जा रहे हैं.राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्रकारों से कहा कि वो आज शनिवार को इस आदेश पर दस्तख़त कर सकते हैं.ट्रंप ने फ़्लोरिडा की यात्रा से लौटते समय अपने विमान एयर फ़ोर्स वन पर पत्रकारों से कहा,”जहाँ तक टिक टॉक का प्रश्न है, हम उन्हें अमरीका में बैन करने जा रहे हैं”.
उन्होंने कहा कि वे इसके लिए अपने इमर्जेंसी आर्थिक अधिकार या एक एग्ज़ेक्यूटिव ऑर्डर का इस्तेमाल कर सकते हैं.ट्रंप ने कहा, “मेरे पास इसका अधिकार है, मैं इसपर कल (शनिवार) दस्तख़त करने जा रहा हूँ
अमरीकी सुरक्षा अधिकारियों ने इस ऐप में लोगों के निजी डेटा की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई थी.इससे पहले भारत सरकार ने भी इसी तरह की चिंता जताते हुए पिछले महीने चीन के दर्जनों ऐप्स पर पाबंदी लगा दी थी जिनमें टिक टॉक भी शामिल था.
राष्ट्रपति ट्रंप की ये टिप्पणी ऐसे समय आई है जब ऐसी ख़बरें चल रही हैं कि चीनी कंपनी बाइटडांस से कहा जा रहा है कि वो टिक टॉक को बेच दे.ऐसी भी रिपोर्टें आ रही हैं कि सॉफ़्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ़्ट इस ऐप को ख़रीदने के लिए दिलचस्पी दिखा रहा है.
टिक टॉक ने इस संबंध में एक बयान जारी कर कहा है – हम अफ़वाहों और अटकलों पर कोई टिप्पणी नहीं करते, हमें टिक टॉक की दीर्घकालीन कामयाबी पर विश्वास है.बाइटडांस ने साल 2017 में टिक टॉक को लॉन्च किया था. उसके बाद उसने म्यूज़िकली नाम की एक वीडियो सेवा को ख़रीदा जो अमरीका और यूरोप में युवाओं में काफ़ी लोकप्रिय सेवा थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.