Hardik patel's wife
पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल की पत्नी किंजल पटेल ने बड़ा आरोप लगाया है।
किंजल का आरोप है कि लगभग 20 दिनों से हार्दिक पटेल का कुछ पता नहीं चल पा रहा है।
देशद्रोह के केस में हार्दिक को 18 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।
दावा है कि पुलिस बार-बार आकर उनसे हार्दिक के बारे में पूछकर परेशान कर रही है।
Also read : Today Horoscope 14 फरवरी 2020 राशिफल
किंजल ने गुजरात प्रशासन पर लगाए आरोप
किंजल ने कहा कि मेरे पति लगभग 20 दिनों से लापता हैं।
हमें उनके ठिकाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है।
उन्होंने कहा कि 2017 में यह सरकार कह रही थी कि पाटीदारों पर सभी मामले वापस ले लिए जाएंगे।
फिर वे हार्दिक को अकेले क्यों निशाना बना रहे हैं।
किंजल कहती हैं कि यह सरकार नहीं चाहती है
कि हार्दिक जनता से मिले और बातचीत करें
और जनता के मुद्दों को उठाना बंद करें।
हालांकि हार्दिक पटेल के ठिकाने का पता नहीं चल पाया है।
हार्दिक ने 12 फरवरी को ट्वीट कर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को विधानसभा चुनावों में जीत की बधाई दी थी।
इससे पहले 11 फरवरी को सोशल मीडिया के माध्यम से हार्दिक ने गुजरात सरकार पर जेल में बंद करने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।
कहा कि इस झूठे मूकदमे में मेरी अग्रिम जनामत की प्रकिया हाईकोर्ट में चल रही है।
मेरे कई सारे गैर जमानती वारंट भी निकाले गए हैं।
गुजरात में पंचायती चुनाव आ रहे हैं।
इसीलिए भाजपा मुझे जेल में बंद करना चाहती है।
मैं भाजपा के खिलाफ जनता की लड़ाई लड़ता रहूंगा।
जल्द मिलेंगे, जय हिंद।
एक छेड़खानी व कथित संबंध के आरोप के मामले में अहमदाबाद की ट्रायल कोर्ट में पेश होने में नाकाम रहने के बाद पटेल को 24 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया।
मुक्त होने के बाद, उन्होंने एक अन्य ट्वीट के माध्यम से संकेत दिया कि वह अपने संघर्ष को जारी रखेंगे।
हार्दिक को 2015 में क्राइम ब्रांच ने उनकी भड़काऊ टिप्पणियों के लिए देशद्रोह के आरोपों में मामला दर्ज किया था।
जहां उन्होंने कथित तौर पर अपने समर्थकों को आरक्षण के कारण आत्महत्या करने के बजाय पुलिसकर्मियों को मारने के लिए कहा था।
पटेल ने दावा किया था कि क्राइम ब्रांच द्वारा आपराधिक साजिश के संबंध में दायर चार्जशीट
और हिंसक आंदोलन के दौरान लोगों को सरकार को बेदखल करने के लिए उकसाने के आरोप में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.