The shocking truth of the pictures of rape and murder of bicycle girl 'Jyoti Paswan'
कोरोना लॉकडाउन के दौरान हरियाणा के गुरूग्राम से अपने बीमार पिता को साइकिल पर बैठाकर 1,200 किलोमीटर दूर दरभंगा तक लाने वाली ज्योति पासवान एक बार फिर खबरों में हैं। तीन महीने पहले जब ज्योति अपने पिता को साइकिल पर बैठाकर खुद साइकिल चलाकर दरभंगा लाई थी, तो उसे साइकिल गर्ल नाम दिया गया था।
 देश-विदेश में ज्योति पासवान की खूब चर्चा हुई थी, यहां तक कि ज्योति पासवान पर फिल्म बनाने के भी कई ऑफर आए थे लेकिन कल से सोशल मीडिया पर ज्योति पासवान के बलात्कार और हत्या का दावा करने वाली तस्वीरें वायरल हो रही हैं।
क्या दावा किया जा रहा है?
सोशल मीडिया पर वायरस तस्वीरों में दावा किया जा रहा है कि बिहार के दरभंगा में ज्योति का बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई है। तस्वीरों में लोगों ने दावा किया है कि ज्योति एक पड़ोसी के बाग से आम चुनने गई थी, लेकिन वहां बच्ची का गला रेत कर उसकी हत्या कर दी गई।

ट्विट और फेसबुक पर ये तस्वीरें तेजी से वायरल हुई और लोगों ने भी तस्वीरों पर विश्वास कर उन्हें अपने सोशल मीडिया से शेयर करना शुरू कर दिया। यहां हम आपको ट्विटर के कुछ यूजर्स के ट्वीट दिखा रहे हैं जो ज्योति नाम की लड़की की हत्या करने वाले दावो को शेयर कर रहे हैं
सच जानने के लिए जब सच जानने के लिए पड़ताल की तो पाया कि बिहार के दरभंगा में एक ज्योति नाम की लड़की की मौत हुई है लेकिन ये ज्योति पासवान नहीं बल्कि ज्योति कुमारी है। एक जैसा नाम और कद-काठी होने की वजह से लोगों के बीच ये संशय पैदा हुआ और उन्होंने धड़ल्ले से फोटो वायरल करनी शुरू कर दी।
बिहार दरभंगा, दरभंगा न्यूज और इस तरह के की वर्ड्स गूगल पर डालें। इसके अलावा बिहार के दो-तीन मीडिया संस्थानों की वेबसाइट को भी खंगाला। जिसके बाद पता चला कि दरभंगा के पतोर थाना क्षेत्र में 13 साल की एक लड़की एक जुलाई मृत अवस्था में एक बगीचे में पाई गई।
लेकिन दरभंगा एसएसपी बाबू राम ने पत्रकारों को बताया कि ज्योति की मौत करंट लगने के बाद दम घुटने से हुई। पुलिस ने बलात्कार के किसी मामले से इनकार किया है। ज्योति कुमारी का शव जिसके बगीचे में मिला उनका नाम अर्जुन मिश्र है, वो एक पूर्व सैनिक हैं।
अर्जुन ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि जंगली सुअरों के आतंक की वजह से बगीचे में नंगे तार का एक घेरा लगवाया था और इसमें करंट दौड़ता है। हालांकि इस पूरे मामले पर दरभंगा के एसएसपी बाबूराम का कहना है कि अफवाह फैलाने वालों पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
क्या निकला निष्कर्ष?
जांच-पड़ताल करने के बाद ये निष्कर्ष निकला कि जिस 13 साल की लड़की की मौत हुई है, उसका नाम ज्योति कुमारी है और ज्योति पासवान जो साइकिल से 1,200 किलोमीटर अपने पिता को बैठाकर दरभंगा लेकर आई थी वो सुरक्षित है और अपने घर पर साइकिल ट्रायल की तैयारी कर रही हैं। एक जैसा नाम होने की वजह से सोशल मीडिया पर लोग उलझन में पड़ गए और ज्योति पासवान के नाम से खबर शेयर करने लगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.