तीन तलाक

अहमदाबाद. गुजरात में 4 सीटों पर 19 जून को राज्यसभा चुनाव होने हैं।

इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया।

इसके बाद पार्टी टूट के डर से सजग हो गई है।

उसने अपने 65 विधायकों को राजस्थान के एक और गुजरात के दो रिजॉर्ट में ठहराया है।

बताया जा रहा है कि ऐसा सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए किया गया है।

इन्हें एकजुट रखने की जिम्मेदारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को दी गई है।

मध्य गुजरात के कांग्रेस विधायकों को आणंद जिले में उमेटा गांव के एरिस रिजॉर्ट में ठहराया गया है।

यहां 15 से ज्यादा विधायक हैं। इन्हें एकजुट रखने की जिम्मेदारी पार्टी के नेता भरत सिंह सोलंकी को दी गई है।

25 विधायक राजस्थान में आबू रोड स्थित वाइल्डविंड्स रिजॉर्ट पहुंचाए गए हैं।

उत्तर जोन के इन विधायकों की जिम्मेदारी कांग्रेस नेता सिद्धार्थ पटेल को सौंपी गई है। करीब 25 विधायक राजकोट के नीलसिटी रिजॉर्ट में ठहराए गए हैं।

इनमें ज्यादातर कच्छ-सौराष्ट्र क्षेत्र के हैं।

नीलसिटी रिजॉर्ट के मालिक और मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई हो रही

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन में बंद हुआ नीलसिटी रिजॉर्ट खोलने के लिए प्रशासन से अनुमति नहीं ली गई थी।

यह रिजॉर्ट कांग्रेस के पूर्व विधायक इंद्रनील राज्यगुरु का है।

जानकारी के मुताबिक, राज्यगुरु और रिजॉर्ट के मैनेजर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं हुई है।

कांग्रेस के 2 नेताओं के बयान चर्चा में

  • डाॅ. किरीट पटेल, पाटन से विधायक: विधायकों के पाला बदलने के सवाल पर इन्होंने कहा, ‘‘हमें कोई डर नहीं है। हम सब एक हैं।
  • जो बिकाऊ माल है वह बिक गया, हमें इसकी चिंता नहीं है।’’
  • हार्दिक पटेल, कांग्रेस नेता: विधायकों के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर हार्दिक ने कहा, ‘
  • ‘जो लोग जनता के साथ द्रोह करके, पैसों के लालच में साम, दाम, दंड, भेद की वजह से गए हैं, ऐसे लोगों को जनता को अब चप्पलों से पीटना चाहिए।’’

गुजरात विधानसभा की 182 में से 10 सीटें खाली

पिछले दिनों कांग्रेस विधायक अक्षय पटेल, जीतू चौधरी और ब्रजेश मेजरा ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया था।

इसके बाद विधानसभा में कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 65 रह गई।

गुजरात विधानसभा में कुल सीटें 182 हैं, फिलहाल इनमें से 10 खाली हैं।

यानी 19 जून को राज्यसभा चुनाव में 172 सदस्य वोट डालेंगे।

कांग्रेस के अब तक 8 विधायक इस्तीफा दे चुके
कांग्रेस मार्च में भी अपने विधायकों को जयपुर के रिजॉर्ट ले गई थी।

तब 26 मार्च को चुनाव होने थे, लेकिन इससे पहले 5 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था।

गुजरात में कांग्रेस के अब तक 8 विधायक पद छोड़ चुके हैं।

अब कांग्रेस के पास भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के 2 और एनसीपी का एक विधायक है।

इस लिहाज से कांग्रेस के पास अभी तक कुल 68 विधायक हो रहे थे।

राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए 37 वोट चाहिए।

ऐसे में कांग्रेस 2 सीटें आसानी से जीतने की उम्मीद में थी, लेकिन मार्च से ही कांग्रेस को झटका लगना शुरू हो गया।

भाजपा 2 सीट जीतेगी, तीसरी के लिए लड़ाई
103 विधायकों के साथ भाजपा राज्यसभा की 2 सीटें आसानी से जीत रही है।

तीसरी सीट के लिए जोड़-तोड़ की राजनीति चल रही है।

आंकड़ों के अनुसार 3 सीटें जीतने के लिए भाजपा को 106 विधायकों की जरूरत पड़ेगी।

अभी 3 विधायक भाजपा के पास कम थे। कांग्रेस टूट रही है तो इसका सीधा फायदा भाजपा को होता दिख रहा है।

भाजपा ने रमीलोबन बारा, अभय भारद्वाज और नरहरि अमीन को मैदान में उतारा है।

कांग्रेस ने शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को टिकट दिया है।

19 जून को 24 सीटों के लिए होना है चुनाव
राज्यसभा की 24 सीटों के लिए 19 जून को चुनाव कराए जाएंगे। अप्रैल में 17 राज्यों से राज्यसभा की 55 सीटें खाली हुई थीं।

इसके लिए चुनाव आयोग ने फरवरी में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था। मार्च में 10 राज्यों से 37 उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए।

बची हुई 18 राज्यसभा सीटों के लिए अब चुनाव होंगे। इनमें आंध्रप्रदेश और गुजरात की 4-4, मध्यप्रदेश और राजस्थान की 3-3, झारखंड की 2, मणिपुर और मेघालय की एक-एक सीट शामिल है।

वहीं, जून-जुलाई में कर्नाटक से 4, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम में 1-1 सीट पर चुनाव होंगे।

गुजरात विधानसभा की मौजूदा स्थिति

पार्टी सीटें
भाजपा 103
कांग्रेस 65 (पहले 73 थे, लेकिन 8 विधायकों ने इस्तीफा दिया)
बीटीपी 2
एनसीपी 1
निर्दलीय 1
खाली सीटें 9
चुनाव रद्द 1
कुल
182

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.