Uttarakhand: Even after refusing, a dozen schools have recovered fees, action will be taken against the schools found guilty in the investigation
हल्द्वानी। लॉकडाउन में मनाही के बाबजूद स्कूलों ने छात्रों से मोटी फीस बसूली है। यह बात विभागीय जांच में साबित हो गई है। इसमें हल्द्वानी के एक दर्जन स्कूल फंस गए हैं। अभिभावकों की ओर से जांच अधिकारी को दिए गए साक्ष्यों में यह दोषी मिले हैं। विभाग का कहना है कि इनको दोषी होने का नोटिस दिया जा रहा है और इनके खिलाफ कार्रवाई भी जल्द होगी।
बताते चलें कि प्रदेश के शिक्षा मंत्री की ओर से साफ कहा गया था कि लॉकडाउन के दौरान स्कूल फीस नहीं वसूलेंगे और ना ही फीस के लिए अभिभावकों पर दवाब बनाएंगे। लेकिन इसके बावजूद कई स्कूलों ने शासन के आदेशों को नहीं माना। अभिभावकों की शिकायत पर इसकी जांच मुख्य शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में शुरू हुई। दो दिन की जांच में अभिभावकों ने खुलकर साक्ष्य दीये।
40 स्कूलों के खिलाफ 27 शिकायतें मिली थी। जांच में खुलासा हुआ कि डॉन बॉस्को, आर्यमन विक्रम विडला स्कूल, एसकेएम, केवीएन, स्कॉलर्स एकेडमी, टिक्कू मॉडर्न पब्लिक स्कूल, डीएवी, वाइट हॉल स्कूल, हिमालय विद्या मंदिर गौजाजाली, यूनिवर्सल सीनियर सेकेंडरी, नैनी-वैली, सरस्वती एकेडमी समेत 12 प्राइवेट स्कूल दोषी हैं। मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता ने बताया कि इन स्कूलों को नोटिस दिया जा रहा है। उसके बाद कार्रवाई होगी।
ऐजाज हुसैन ब्यूरो प्रमुख उत्तराखंड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.