BJP's double engine government is oppressing people: Pritam Singh
रुद्रपुर (उधमसिंह नगर)। प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा हो रहे अत्याचार से आम जनमानस बुरी तरह त्रस्त है, जिसके खिलाफ कांग्रेस की लड़ाई निरंतर जारी है। कांग्रेस के द्वारा उधमसिंह नगर के बाजपुर में 5838 एकड़ भूमि को लेकर संघर्ष किया जा रहा है, जिस क्रम में आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए कई जनप्रतिनिधि व वरिष्ठ नेतागण रुद्रपुर पहुंचे। जहां उन्होंने प्रदेश सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बाजपुर वासियों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इस मौके पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि बाजपुर वासियों की कई एकड़ जमीन पर भाजपा सरकार द्वारा कब्जा किया गया है, जिसको सरकार जल्द से जल्द वापिस करे, नहीं तो भाजपा सरकार को इसका भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा के शासन में बेरोजगारी चरम पर है और विकास कार्य ठप हैं। जनता मौजूदा सरकार से पूरी तरह परेशान हो चुकी है। उन्होंने कहा कि जनता आगामी चुनाव में भाजपा को शिकस्त देकर सबक सिखायेगी। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने भी भाजपा सरकार पर जमकर तंज कसे। उन्होंने कहा कि भाजपा जनता की समस्याओं के निस्तारण को भूल अपनी चापलूसी में लगी रहती है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार ने गरीब जनता को बुरी तरह त्रस्त कर दिया है। मंहगाई व बेरोजगारी जैसी समस्याएं दिन ब दिन बढ़ रही हैं। स्वास्थ्य सेवाएं बेहाल हैं। वहीं सरकार द्वारा गन्ना किसानों को भुगतान नहीं किया गया है, जिसका भुगतान किया जाना आवश्यक है। उन्होंने भुगतान न किये जाने की स्थिति में आंदोलन की चेतवानी भी दी। नेता प्रतिपक्ष ने मौजूदा सरकार पर तंज कसते हुए सरकार की नाकामियों को सामने रखा।
इस मौके पर पूर्व जिलाध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट, वर्तमान जिलाध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा, पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष संदीप चीमा, जगदीश तनेजा, हिमांशु गाबा, मीना शर्मा, सीपी शर्मा, हरीश पनेरु, जगतार सिंह बाजवा, बब्बू खान, सुरेश गौरी, हरीश चौधरी, हरीश जोशी, अनिल वर्मा, अनुज राणा, अर्जुन सिंह रौतेला, साहब सिंह, गोपाल भट्ट, आशीर्वाद गोस्वामी, मनोज खुल्बे, विपिन खोलिया आदि तमाम कांग्रेस मौजूद थे।
ऐजाज हुसैन ब्यूरो प्रमुख उत्तराखंड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.