मुलायम सिंह, शिवपाल की जनाक्रोश रैली में पहुंचे

0 11
लखनऊ: मंच पर पहुंचकर अंसार रजा ने कहा कि जिस मंच पर नेताजी जैसा लौह पुरुष मौजूद हों, उसको कैसे बीजेपी से जोड़ा जा सकता है। बीजेपी से जोड़ने की कोशिश हुई है। नेताजी जैसा शख्स कभी बीजेपी का साथ नहीं दे सकता। मजबूर होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया गया है। नेहरू से लेकर नेताजी तक मुसलमानों ने अपना नेता माना लेकिन अपनी क़ौम के किसी को नेता नहीं माना।
शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली में मुलायम सिंह यादव और उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव शिवपाल के साथ मंच पर पहुंच गए। बता दें, पहले शिवपाल ने बड़े भाई मुलायम को जनाक्रोश में आने का न्योता भेजा था। मगर पहले ये कयास लगाए जा रहे थे कि नेता जी इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे लेकिन वह यहां पहुंच गए।
इस दौरान मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने कहा कि आज का जन सैलाब ये प्रमाण है कि शेर को चोट नही देना चाहिए क्योंकि जब वो जाग खड़ा होता है तो सभी जानते हैं कि जंगल में उसी का राज चलता है। लोहिया को चोट पहुंची तो समाजवाद आया। नेताजी को चोट पहुंची तो सबको बराबरी का दर्जा मिला।
अब चाचा जी को चोट पहुंची है तो आप खुद समझ सकते हैं कि क्या होना वाला है। कम्पनी राज चल रहा है। बड़ी कंपनियों के हाथ मे सरकार खेल रही है। जीएसटी कठिन नियम बनाया गया है। व्यापारी परेशान हैं। गढ्ढा मुक्त सड़क आज तक नही हो पाई है। प्रदेश में किसी की सुनवाई नही हो रही है।

परिवर्तन का मौका है 2019 में हमारे साथ कुच कीजिये। चाचा जी ने बुलाया है और बोलने का मौका भी दिया। जिस तरह से करना होगा तन-मन-धन से साथ दूंगी।
आदित्य यादव ने कहा कि आज के समय सरकार हिन्दू-मुस्लिम डिबेट को बढ़ावा दे रही केंद्र और राज्य सरकार विकास का कोई काम नहीं कर रही है। संविधान सब से बड़ी ताकत देता है। आज बहुत सारी दिक़्क़त आ रही हैं।

आदित्य ने कहा कि हम सबको मज़बूती से लड़ना है। 2019 के चुनाव में हम देशभर में संदेश देंगे। प्रदेश का जो माहौल हौ वो डरावना है, ऐसे में समाजवाद के लिए काम करना होगा। भगवती सिंह जी, नेताजी और शिवपाल सिंह यादव ने समाजवाद के लिए काम किया।

हम सुरक्षा की बात करेंगे। हिन्दू-मुस्लिम की बात नहीं करेंगे। हम विकास की बात करेंगे। विकास के लिए बहुत काम हो सकता है लेकिन यहां जाति धर्म की बात हो रही। शहरों के नाम बदल जा रहे हैं। अगर करना ही तो नया शहर बनाइए वो विकास होगा।

पूर्व मंत्री शादाब फ़ातिमा ने कहा कि शिवपाल सिंह यादव ने खून के एक क़तरे को जलाकर समाजवाद को ज़िंदा रखा है। बीजेपी के लोग शिवपाल को मिटाना चाहते हैं।
यह भी पढ़ें: दलित युवक भगवान हनुमान की, आपत्तिजनक तस्‍वीर पोस्‍ट करने के आरोप में गिरफ्तार
साल 2019 शिवपाल सिंह यादव और मुलायम सिंह यादव जी का है।
बहुजन मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष वीएल मातंग ने कहा कि आज मुझे वो दिन याद आ रहा है, जब कांशीराम और नेताजी साथ आये थे तो प्रदेश की राजनीति बदल दिया था। आज से 25 साल पहले का वक़्त याद आ गया। अब हम लोग देश की राजनीति बदल सकते हैं। देश की फिजा बदलने वाली है। 2019 में माहौल बदल जाएगा।
जनता में जो आक्रोश है, उसकी सब से बड़ी वजह ईवीएम है। 8 अक्टूबर 2013 को सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ईवीएम से पारदर्शी चुनाव नही हो सकता। इसके बाद भी 2014 के अलावा कई राज्यों में चुनाव हो गया। तीन तलाक़ पर पीएम कहते हैं कि पाबन्दी होनी चाहिए क्योंकि कई देशों में पाबंदी है। फिर 130 देशों में ईवीएम पर पाबन्दी है, तो हमारे देश मे क्यों नही।

विदेशी मानसिकता के लोगों को सत्ता से उखाड़ फेंकना चाहिए। 56 इंच का सीना झूठ बोलकर जी रहा है। जीना ही उनका कार्यक्रम है। 4।5 साल में कोई काम मोदी सरकार ने काम नही किया। लाख से ज़्यादा महिलाओं से बलात्कार हुआ। छोटी-छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार हुआ। हज़ारों किसानों ने आत्महत्या की।
25 हज़ार लोगों के लिए अयोध्या में 75 हज़ार फोर्स लगाई गई। उन्हें सफलता नही मिली  तो बुलंदशहर में गौ हत्या के नाम पर साज़िश शुरू कर दिया। दलितों को भ्रमित करने की कोशिश की जाती है। डीएनए कार्ड जारी करना चाहिए। सरदार पटेल का पुतला चीन से, बुलेट ट्रेन जापान से, राफेल फ्रांस से तो यहां सिर्फ पकोड़ा ही बनाना है क्या।
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और किसानों के लिए, मुसलमानों को माब लॉन्चिंग के नाम पर टारगेट किया जा रहा है। एससी/एसटी को टारगेट बनाया का रहा है। कलेक्टर का बच्चा और गरीब का बच्चा एक स्कूल में पढ़ना चाहिए तब पता चलेगा कौन क़ाबिल है। अब तुम देवी-देवताओं को बाँट रहे हो। क्या अब देवी-देवताओं के भी प्रमाणपत्र जारी करोगे क्या।
12 जनवरी से हर मण्डल पर रैली करेंगे। बिहार में भी रैली करेंगे। 2019 की दिशा बदल देंगे। 80 सीटों पर लड़ेंगे। हमारा इरादा भाजपा को हराना है। आपके घर मे चौकीदार हो और चोरी हो जाये तो क्या करोगे 2019 में चौकीदार बदलना ज़रूरी है। हम भाजपा के लिए काम नही कर रहें हैं। जहां नेताजी हों वहां भाजपा पहुँच ही नही सकती हैं।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More