समाजवादी पार्टी के सभी विधायक लखनऊ तलब, आज होगी अहम बैठक

144

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, विधान परिषद सभापति रमेश यादव, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, लक्ष्मण प्रसाद आचार्य, सपा के आशु मलिक, रामजतन राजभर, वीरेन्द्र सिंह व साहब सिंह सैनी के अलावा बसपा के धर्मवीर सिंह अशोक, प्रदीप कुमार जाटव व नसीमुद्दीन की सीटें हैं। हालांकि नसीमुद्दीन कांग्रेस में पहले ही शामिल हो चुके हैं और उनकी विधान परिषद की सदस्यता खत्म की जा चुकी है। सपा के एक प्रत्याशी की जीत तय : विधान परिषद चुनाव में विधायकों की संख्या के आधार पर भारतीय जनता पार्टी के दस प्रत्याशी निर्वाचित होना तय है।

वहीं समाजवादी पार्टी का केवल एक उम्मीदवार की जीत को पक्का माना जा रहा है परंतु बसपा का अपने बल पर किसी नेता को सदन में पहुंचा देना आसान नहीं है। सपा के जिन छह सदस्यों का कार्यकाल 30 जनवरी को पूरा हो रहा है, उसमें सभापति रमेश यादव के अलावा दलनेता अहमद हसन भी है। ऐसे में अहमद हसन को फिर से विधान परिषद भेजा सकता है ताकि मुस्लिम कोटा पूरा सके। दूसरे दिन भी कोई नामांकन नहीं : विधान परिषद चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के दूसरे दिन मंगलवार को भी कोई पर्चा नहीं भरा गया। निर्वाचन अधिकारी ब्रजभूषण दुबे ने बताया कि मंगलवार को कोई नामांकन पत्र जमा नहीं हुआ। अलबत्ता दो नामांकन पत्र निर्दल उम्मीदवारों की ओर से खरीदे गए है।

लखनऊ समाजवादी पार्टी ने अपने सभी विधायकों को 13 व 14 जनवरी को लखनऊ में रहने के निर्देश दिए हैं। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बुधवार को सुबह 10 बजे प्रदेश कार्यालय में विधायकों के साथ बैठक करेंगे। विधान परिषद की 12 सीटों पर हो रहे चुनाव के लिए यह बैठक अहम मानी जा रही है। इसमें एमएलसी चुनाव पर चर्चा की जाएगी। साथ ही सपा प्रत्याशी के प्रस्तावक कौन-कौन से विधायक होंगे यह भी तय किया जाएगा।

प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने विधायकों को लखनऊ आने के लिए पत्र भेज दिया है। भारत निर्वाचन आयोग ने पिछले बुधवार को विधान परिषद की 12 सीटों पर चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। इसकी अधिसूचना 11 जनवरी को जारी हो चुकी है। इसी के साथ नामांकन पत्र खरीद भी शुरू हो गई है। हालांकि अभी तक किसी उम्मीदवार ने नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया है। मतदान 28 जनवरी को होगा। इसी दिन शाम को मतगणना होगी। विधान परिषद की 12 सीटें 30 जनवरी को रिक्त हो रही हैं। इनमें सपा की छह, बसपा व भाजपा की तीन-तीन सीटें शामिल हैं।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More