Uninterrupted mining of sand continues from the small Gandak river of Ramkola police station area
रामकोला /कुशीनगर
जिले के कप्तानगंज व रामकोला थाना क्षेत्र से निकलने वाली छोटी गंडक नदी के विभिन्न घाटो पर बालू का अवैध खनन का कारोबार धड़ल्ले से जारी है।छोटी गंडक के विभिन्न घाटो पर कारोबारियों द्वारा बिना डर भय के दिन -रात अबैध खनन कार्य को बखूबी अंजाम दे रहे है। जिसका सीधा असर किसानों के ऊपर पड़ रहा है । किसानों का खेती योग्य जमीन ऊसर होने के साथ-साथ नदी में विलीन होती जा रही है बालू का अबैध खनन पर प्रशासन की चुप्पी से माफियाओ का हौसला बुलन्दियों पर है, और बालू का अबैध खनन बदस्तूर जारी है।
-एस डी एम अरविंद कुमार के तबादले से बालू माफियाओ का मनोबल बढ़ा, खनन जोरो पर।
छोटी गंडक नदी के घाट रामकोला थाना क्षेत्र के पगार मिश्रौली, मुरलीछपरा, हर्दीछपरा खोटही ग्राम सभा के धोवीया टोला, विश्वनाथपुर काशीछपरा आदि जगहो पर अवैध बालू खनन का खेल लगातार जारी है। प्रशासन के ढीले रवैये का नतीजा है कि घाटो के आस- पास के किसानों का कृषि योग्य उपजाऊ भूमि भी ऊसर हो जाने के कारण खेती नही हो पा रही है जो बचा है वह नदी में विलीन होता जा रहा है जिससे किसान भुखमरी के कगार पर आ गये है। पूर्व में एस डी एम रहे अरविंद कुमार अबैध बालू खनन माफियाओं पर नकेल कसने में कोई कोर कसर नही छोड़ रखे थे जिससे माफिया में खलबली मच गई थी। लेकिन निजाम बदलते ही बालू का अबैध खनन करने वाले माफियो का पौ बारह हो गया है और बालू का अबैध खनन जोरो पर जारी हो गया है।क्षेत्र में यह चर्चा जोरों पर है कि बालू का अबैध खनन पर रोक नवोदित एस डी एम साहब लगा पाते है या नही वैसे नवोदित एसडीएम के लिए अबैध बालू खनन पर रोक लगाना किसी चुनौती से कम नही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.