Unauthorized possession of several prized lands disallowed from Kador rupees, action on mafia atik
अतीक अहमद के खिलाफ चल रही कार्रवाई के क्रम में उसके आर्थिक साम्राज्य को तगड़ा झटका लगा है। महज नौ दिनों की कार्रवाई में ही उसे 100 करोड़ से ज्यादा की चोट पहुंच चुकी है। यह वह आंकड़े हैं जो बाकायदा लिखापढ़ी में हैं। पुलिस व प्रशासनिक अफसरों का कहना है कि अवैध रूप से खड़ी की गई हर संपत्ति पर कार्रवाई की जाएगी।
अतीक के खिलाफ कार्रवाई का क्रम तो बहुत पहले ही शुरू हो गया था लेकिन पिछले नौ दिनों के भीतर इसमें काफी तेजी आई। प्रयागराज विकास प्राधिकरण, जिला प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम लगभग रोज ही माफिया की अवैध तरीके से खड़ी गई संपत्तियों पर कार्रवाई कर रही है। इनमें कई बेशकीमती जमीनें शामिल हैं तो आलीशान भवन व व्यावसायिक कॉम्पलेक्स भी हैं।
जमीनों से अवैध कब्जा हटवाया गया तो नियमविरुद्ध तरीके से हुए निर्माण भी ध्वस्त कराए गए। जानकारों का कहना है कि इन नौ दिनों में अतीक की जिन संपत्तियों पर कार्रवाई की गई, उनके संबंध में उपलब्ध कराए गए ब्यौरे के अनुसार माफिया को नौ दिनों के भीतर 100 करोड़ से ज्यादा की चोट पहुंची है। नुकसान का यह आंकड़ा सिविल लाइंस, खुल्दाबाद, शिवकुटी स्थित जमीनों के मौजूदा सर्किल रेट के हिसाब से निकाला गया है।
कैसे आया अनुमानित मूल्य
पिछले नौ दिनों में सिविल लाइंस, करेली, मेहंदौरी व खुल्दाबाद में अतीक व उसके सहयोगियों की संपत्तियों पर कार्रवाई की गई। जितने वर्ग मीटर जमीन पर कार्रवाई की गई, उसका अनुमानित मूल्य सर्किल रेट के आधार पर निकाला गया। उदाहरण के लिए, नवाब यूसुफ रोड पर मुख्य मार्ग पर व्यावसायिक भूमि का सर्किल रेट 1.2 लाख रुपये प्रति वर्ग मीटर है। ऐसे में 418 वर्ग मीटर के हिसाब से यहा आंकड़ा पांच करोड़ रुपये के आसपास बैठता है। इसी तरह अन्य संपत्तियों की भी अनुमानित कीमत निकाली गई।
कई गुना ज्यादा है बाजारू मूल्य
फिलहाल माफिया को नुकसान का जो आंकड़ा ऊपर दिया गया है,वह जमीनों के सरकारी मूल्य के आधार पर निकाला गया है। जबकि जानकारों का यह भी कहना है कि बाजारू मूल्य की बात की जाए, तो नुकसान का आंकड़ा और ज्यादा है। इसलिए क्योंकि बाजार में जमीनें सर्किल रेट से कई गुना ज्यादा दाम पर बेची जाती हैं।
92 करोड़ रुपये अनुमानित कीमत है जमीनों की
कार्रवाई में शामिल अफसरों ने बताया कि रविवार को जिन दो जमीनों को अतीक अहमद के कब्जे से मुक्त कराया गया, उनकी अनुमानित कीमत 92 करोड़ के आसपास है। मदनानी अस्पताल के पास मुक्त कराई गई जमीन का क्षेत्रफल करीब सात हजार वर्ग मीटर है। मछली मंडी के पास लगभग तीन हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल की जमीन से अवैध कब्जा हटवाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.