बैंकों के पास हो रही लूटपाट और हत्या की घटनाओं से राजधानी पुलिस नहीं ले रही सबक

0 8
लखनऊ,। बैंकों के पास हो रही लूटपाट और हत्या की संगीन घटनाओं से राजधानी पुलिस सबक नहीं ले रही है।
राजभवन के पास कैश वैन से लूट और सिक्योरिटी गार्ड की हत्या के बाद बैंकों की सुरक्षा बढ़ाने का दावा खोखला साबित हुआ। दो दिन की छुट्टी के बाद सोमवार को बैंक खुला था।
बावजूद इसके पुलिसकर्मियों की वहां ड्यूटी नहीं लगाई गई। माना जा रहा है कि अगर पुलिसकर्मी बैंक के बाहर मौजूद रहते तो बदमाश हत्या व लूट की वारदात को अंजाम नहीं दे पाते। 
एसएसपी का कहना है कि एएसपी उत्तरी के नेतृत्व में कुल 12 टीमें लगाई गई हैं। इनमें चार टीम टोल प्लाजा और घटना स्थल के आसपास लगे सीसी कैमरे खंगाल रही है।
वहीं, पांच टीम को जेल से छूटे अपराधियों के बारे में पता करने के लिए लगाया है। यह टीम जेल में बंद अपराधियों से पूछताछ भी कर रही है।
तीन अन्य टीम को संदिग्धों से पूछताछ के लिए लगाया गया है। इसके अतिरिक्त एसएसपी ने स्वाट एवं सर्विलांस टीम को सक्रिय कर दिया है।
उच्चाधिकारियों ने बैंक के भीतर और बाहर सुरक्षा के कड़े निर्देश जारी किए हैं। अभी हाल में ही एसएसपी ने सभी थाना प्रभारियों को बैंक में चेकिंग के लिए कहा था।
कुछ दिनों तक ग्राहकों और बैंकों की सुरक्षा के प्रति संजीदगी दिखाने के लिए पुलिस ने खूब फोटो खिंचाई और उसे सोशल मीडिया पर साझा भी किया। हालांकि श्याम की हत्या ने हकीकत से पर्दा उठा दिया।
अब सवाल यह है कि बैंक के बाहर आखिर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी क्यों नहीं लगाई गई थी? क्या वहां कोई सिपाही या दारोगा तैनात था?
अगर किसी की ड्यूटी लगी थी तो वह मौके पर मौजूद क्यों नहीं था? इन तमाम सवालों ने पुलिस की कार्यशैली को कठघरे में खड़ा कर दिया है। 
30 जुलाई 2018 को राजभवन के पास स्थित एक्सिस बैंक के बाहर कैश वैन के गार्ड की हत्या के बाद 6.44 लाख की लूट। 
नौ दिसंबर 2014 को राजभवन के पास पास ही बाइक सवार दो बदमाशों ने एक्सिस बैंक से रुपये निकालकर लौट रहे युवक से 18 लाख रुपये लूट लिए थे। 
21 दिसंबर 2014 को साउथ इंडियन बैंक शाखा की अलीगंज शाखा में बदमाशों ने गार्ड की हत्या कर डकैती डाली थी। 
गोमतीनगर में गैस एजेंसी के कैशियर की दिनदहाड़े हत्या और लूट के मामले को लेकर एलपीजी एजेंसी संचालकों ने मांगें पूरी होने पर मंगलवार को सांकेतिक हड़ताल की घोषणा की है।
एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन यूपी सर्किल के अध्यक्ष डीपी सिंह और जिला अध्यक्ष अजय वाजपेयी ने सोमवार को डीएम से मुलाकात की।
पदाधिकारियों का कहना था कि श्याम सिंह के परिवार को तत्काल शासकीय सहायता उपलब्ध कराई जाए और एजेंसियों को सुरक्षा।
यह भी पढ़ें: लखनऊ: विभूतिखंड बैंक ऑफ इंडिया के सामने, कैशियर की हत्या कर लूटे दस लाख, पीठ और सीने में मारी गोली
सभी वितरक कल सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे और अगर मांगें नहीं पूरी हुईं तो फिर सभी अनिश्चितकालीन हड़ताल को विवश होंगे।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More